Breaking News

पूर्वाेत्तर रेलवे लखनऊ मण्डल में 12 से 14 जुलाई तक शुरू हुआ तीन दिवसीय प्रथम ’संरक्षा महासम्मेलन’

लखनऊ। पूर्वाेत्तर रेलवे लखनऊ मण्डल में 12 जुलाई से 14 जुलाई तक तीन दिवसीय प्रथम ’संरक्षा महासम्मेलन’ का आयोजन किया जा रहा है।

इसी परिप्रेक्ष्य में मण्डल रेल प्रबन्धक कार्यालय लखनऊ के ’बहुउददेशीय हाल’ में आज पूर्वाह्न ’संरक्षा महासम्मेलन’ का शुभारम्भ पूर्वोत्तर रेलवे के महाप्रबन्धक अशोक कुमार मिश्र द्वारा वर्चुअल माध्यम से, पूर्वोत्तर रेलवे मुख्यालय से वर्चुअल लिंक से जुडे़ प्रमुख मुख्य वाणिज्य प्रबन्धक संजय मिश्रा, प्रमुख मुख्य सिगनल एवं दूरसंचार इंजीनियर  ए.के. मिश्रा एवं मण्डल रेल प्रबन्धक कार्यालय लखनऊ में मण्डल रेल प्रबन्धक डा0 मोनिका अग्निहोत्री एवं अपर मण्डल रेल प्रबन्धक(परिचालन), अपर मण्डल रेल प्रबन्धक(इंफ्रा), अपर मण्डल रेल प्रबन्धक(प्रशासन) एवं शाखाधिकारियों तथा रेल कर्मियों की उपस्थिति में किया गया।

पूर्वाेत्तर रेलवे लखनऊ मण्डल में 12 से 14 जुलाई तक शुरू हुआ तीन दिवसीय प्रथम ’संरक्षा महासम्मेलन’

‘संरक्षा महासम्मेलन’ के शुभारम्भ के अवसर पर अपने सम्बोधन में महाप्रबन्धक श्री मिश्र ने बधाई देते हुए कहा कि लखनऊ मण्डल का यह बहुत ही सार्थक कदम है। पूर्वोत्तर रेलवे हमेशा संरक्षा को उच्च प्राथमिकता देता है और हमें यात्रियों की सुरक्षा हेतु इसे बनाए रखना है। उन्होने कार्यक्रम में उपस्थित सभी रेलकर्मियों को निर्देश दिया कि वे संरक्षा नियमों को प्रभावित करने वाले किसी भी शॉर्ट-कट उपाय को न अपनाएं। संरक्षा सभी विभागों का सामूहिक दायित्व है अतः संरक्षा के प्रति सभी विभाग सजग रहे।

श्री मिश्र ने निर्देशित करते हुए कहा कि संरक्षा, ट्रेन परिचालन एवं अनुरक्षण कार्य के दौरान रेलवे ट्रेक तथा फील्ड में कर्मचारी अक्सर मोबाइल फोन का प्रयोग करते हुए दुघर्टना की चपेट में आ जाते है। इसलिए उन्होने कार्यक्षेत्र में डियूटी के दौरान कर्मचारियों को मोबाइल का विवेकपूर्ण प्रयोग करने के निर्देश दिये। महाप्रबन्धक ने संरक्षा महासम्मेलन के आयोजन पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए अन्य मण्डलों के लिए प्रेरणादायक बताया तथा इसके सफल आयोजन हेतु अपनी शुभकामनाऐं प्रदान की।

इसके पश्चात महाप्रबन्धक तथा मुख्यालय के प्रमुख विभागाध्यक्षों की गरिमामयी उपस्थिति में वरिष्ठ मण्डल सिगनल एवं दूरसंचार इंजीनियर सत्यदेव पाठक द्वारा रचित ’संरक्षा सर्वोपरि’ शीर्षक के ’रेल संरक्षा गीत’ -Safety Anthem का विमोचन मण्डल रेल प्रबन्धक द्वारा किया गया। इस अवसर पर उपस्थित सभी अधिकारियों एवं रेलकर्मियों ने संरक्षा गीत का वाचन किया।

मण्डल रेल प्रबन्धक ने अपने सम्बोधन में कहा कि ’संरक्षा महासम्मेलन’ का उददेश्य है कि, समस्त कर्मचारियों द्वारा ’’संरक्षा ही सर्वोपरि है’’के सिद्धांत को अपने चेतन व अवचेतन मन में समाहित किया जाये । भारतीय रेल में कोई भी दुघर्टना होती है तथा उस दौरान जो दुघर्टना जॉच इन्क्वारी होती है, उससे हम सभी को सबक लेना चाहिए। संरक्षा हमारे प्रत्येक रेलकर्मियों के जीवन का अभिन्न अंग बन जाये और उनके प्रतिदिन की कार्य शैली में समाहित हो जायें इसी उददेश्य हेतु संरक्षा महासम्मेलन का आयोजन किया जा रहा है।

इस संरक्षा महासम्मेलन में 11 कार्यशालाऐं, वरिष्ठ अधिकारियों तथा संरक्षा परामर्शदाताओं के संरक्षा विश्लेषण, स्काउट एवं गाइड द्वारा नुक्कड़ नाटक, संरक्षा स्लोगन, संरक्षा क्विज, संरक्षा निबन्ध आदि प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जायेगा। रेल कर्मचारी के व्यक्तित्व विकास के लिए स्ट्रेस मैनेजमेंट कार्यशाला, पर्सनल फाइनेंस कार्यशाला तथा ’फायर सेफ्टी’ कार्यशाला का आयोजन किया जायेगा। इसके अतिरिक्त 03 ’मॉक’ दुघर्टना जॉच प्रक्रिया की प्रतियोगिता के साथ साथ अन्य संरक्षा विषयों का प्रस्तुतिकरण किया जायेगा, जिसमें दुघर्टनारोधी उपायों और तकनीक से संबंधित संरक्षा वीडियों प्रदर्शित किये जायेगें।

कार्यक्रम का संचालन करते हुए वरिष्ठ मण्डल संरक्षा अधिकारी शेख रहमान ने ’संरक्षा महासम्मेलन’ में होने वाले कार्यक्रमों की रूपरेखा प्रस्तुत की। अपर मण्डल रेल प्रबन्धक (परिचालन) शिशिर सोमवंशी द्वारा सभी अधिकारियों की सहभागिता तथा इस सम्मेलन में प्रत्यक्ष एवं परोक्ष रूप से जुड़े सभी कर्मचारियों के सम्मिलित प्रयास हेतु धन्यवाद ज्ञापित किया गया।

रिपोर्ट – दया शंकर चौधरी

About reporter

Check Also

बलिदान दिवस के अवसर पर सीएम योगी ने किया बलिया का दौरा व अमर सपूतों को दी श्रद्धांजलि

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आज बलिया दौरे पर हैं। ...