Breaking News

चचेरी बहन की गला दबाकर हत्या कर आत्महत्या करने की कहानी गढ़ने वाले को भेजा गया जेल

बिधूना/औरैया। पुलिस अधीक्षक अपर्णा गौतम अपर पुलिस अधीक्षक शिष्यपाल के निर्देशन एवं सीओ बिधूना मुकेश प्रताप सिंह के निकट पर्यवेक्षण में कोतवाल राजकुमार सिंह राठौर उपनिरीक्षक योगेंद्र सिंह उप निरीक्षक पवन यादव सिपाही विजय राज गुप्ता कैलाश राजपूत की टीम द्वारा बिधूना थाना क्षेत्र के ग्राम नारायनपुर भानू में पिछले लगभग 1 हफ्ते पूर्व नाबालिक की हुई संदिग्ध परिस्थितियों में मौत के मामले में गला दबाकर हत्या होने की पुष्टि होने पर गहन तहकीकात कर हत्या को अंजाम देने वाले नाबालिक को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

पुलिस अधीक्षक अपर्णा गौतम व अपर पुलिस अधीक्षक से शिष्यपाल ने शनिवार को घटना का खुलासा करते हुए बताया है कि बिधूना थाना क्षेत्र के ग्राम नारायनपुर भानू में 6 फरवरी 2021 को लगभग 16 वर्षीय उपासना पुत्री एवं सिंह राजपूत द्वारा फांसी पर झूल कर आत्महत्या कर लेने की नाबालिक बालिका के पिता द्वारा को थाना बिधूना पर सूचना दी गई थी जिस पर पहुंची पुलिस ने मामले में संदेह जताते हुए पैनल द्वारा वीडियोग्राफी के बीच मृतक बालिका का पोस्टमार्टम कराया गया। और इस पोस्टमार्टम में बालिका की गला दबाकर हत्या करने की पुष्टि होने पर ऑनर किलिंग का मामला प्रतीक होते ही सीओ मुकेश प्रताप सिंह के निकट पर्यवेक्षण में कोतवाल बिधूना राजकुमार सिंह राठौर की टीम द्वारा मामले में सघन तहकीकात करने में पाया गया कि अमृत का उपासना का लगभग 17 वर्षीय सगा चचेरा भाई राजेश पुत्र चंदन सिंह निवासी नारायनपुर भानू उपासना पर अपनी गंदी निगाह रखता था।

घटना के समय मृतका के माता-पिता खेत पर काम करने गए थे तभी मृतका को घर में अकेला जानकर अपचारी राजेश द्वारा छत से जीने के रास्ते मृतका के घर में प्रवेश कर मृतका को गलत काम करने के उद्देश्य से मृतका के कमरे में गया और उसके साथ जबरदस्ती करने लगा। अमृत का उपासना द्वारा इसका विरोध करने और उसकी शिकायत अपने माता-पिता से करने की बात कहने पर अपचारी राजेश द्वारा पकड़े जाने के भय से उपासना की गला दबाकर हत्या कर दी। अपने बचाव में फांसी लगाकर आत्महत्या का रूप देने के लिए यह बात अपने परिजनों और गांव वालों को बताई थी। इसी के चलते मृतका के पिता द्वारा फांसी लगाकर आत्महत्या करने की सूचना पुलिस को दी थी। पुलिस ने मामले में गिरफ्तार किए गए आरोपी को जेल भेज दिया है।

रिपोर्ट-अनुपमा सेंगर

About Samar Saleel

Check Also

गड़बड़ी व मिलीभगत पर होगी एफआईआर, जेल भी जाएंगे, 12 दिन में पूरी होगी परीक्षा

यूपी बोर्ड परीक्षा में किसी भी तरह की गड़बड़ी और मिलीभगत पर आरोपियों के खिलाफ ...