Breaking News

जाने वनदुर्गा की देखरेख की दुर्दशा का सच!

  • मोगली गर्ल के इलाज़ में हुई घोर लापरवाही
  • अब तीरंदाज़ बन रहे स्वास्थ्य कर्मी
  • वनदुर्गा,बची तो अपनी बुलंद तकदीर से

बहराइच. कोई इसे मोगली गर्ल कह रहा है तो कोई वनदुर्गा।मामला चर्चा में आया तो उसको अनेको नाम भी मिले और आनन फानन में स्वास्थ्य कर्मियों ने उसे साफ़ सुथरा कर कपड़े भी पहना दिए। हालांकि इसके पहले स्वास्थ कर्मियों ने वनदुर्गा के इलाज़ व देख रेख में अनेको लापरवाहियां बरती। फ़टे गन्दे व आधे अधूरे कपड़ो में वो अक्सर वार्ड में जमीन में घिसट घिसट कर चलती थी अस्पताल में बना हुआ खाना कर्मचारी उसको पत्तलों में देकर चले जाते थे। जिसे वो गन्दी जमीन पर खाती है और जमीन में बेसुध सी पड़ी रहती है। इतना ही नही दबी जुबान में स्वास्थ्य कर्मियों ने कहा कि उसे पान मसाला खाने की लत भी लग चुकी है। स्वास्थ्य कर्मियों के मुताबिक वनदुर्गा जमीन पर तीमारदारों द्वारा सेवन किए गए पान मसाले के फेंके गए खाली पैकेट को जमीन से उठा कर खाती है। कहते है तस्वीरे सच का आईना होती हैं,खबर के साथ छपी तस्वीर को ज़रा गौर से देखिये आप सब कुछ स्वयं समझ जाएंगे। किस तरह से मोगली गर्ल फर्श से उठा कर खाना खा रही है। इतना ही नही लापरवाही का आलम तो यह है कि बिस्तर पर ही मल मूत्र त्याग करने बाद भी कई घंटों तक वह गंदी बेडशीट पर पड़ी रही। मामला चर्चा में आया तो स्वास्थ्यकर्मियों ने चौकन्ना होते हए वनदुर्गा की रूप रेखा ही बदल दी,उसे नहला धुला कर साफ़ किया गया और उसे अच्छे कपड़े पहनये गए। अब यही स्वास्थ्यकर्मी कहते नही थकते कि वनदुर्गा का बेहतर ढंग से पालनपोषण व इलाज़ हुआ है।

वनदुर्गा को पहले संक्रामक वार्ड में भेज दिया गया जबकि उसके सर्जिकल वार्ड में भर्ती करना चाहिए।

चिकित्सको का खुद ही यह मानना है कि जख्मी मरीज को संक्रामक वार्ड में भर्ती करने से उसके जख्म में और संक्रमण होने की सम्भावना कई गुना बढ़ जाती है। अब ये अपने ही हाथ से अपनी पीठ थपथपा रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग के आलाअधिकारियों व चिकित्सा कर्मियों के पास इन प्रश्नों का कोई जवाब नही है कि उसे संक्रामक वार्ड में पहले क्यो भर्ती किया गया था!! आखिर इस वनदुर्गा प्रकरण में स्वास्थ्य कर्मी पहले क्या कर रहे थे?? इन लापरवाह कर्मियों को पहले क्यों नही दिखा जो अब इस मोगली गर्ल में दिख रहा है??

रिपोर्ट: फराज अंसारी

Loading...

About Samar Saleel

Check Also

कोरोना संक्रमण की चेन तोड़ने को निगरानी समितियों को करें क्रियाशील: डीएम

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें औरैया। जिले में कोरोना संक्रमण पर प्रभावी नियंत्रण ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *