Breaking News

ब्लड प्रेशर के होते हैं 4 स्टेज, जानिए हाई बीपी को कैसे रोकें?

हाइपरटेंशन को अक्सर हाई ब्लड प्रेशर के रूप में जाना जाता है. यह एक ऐसी मेडिकल स्थिति है जो नसों के भीतर ब्लड प्रेशर के असामान्य रूप से हाई लेवल से चिह्नित होती है. यह ‘साइलेंट किलर’ स्थिति आपके दिल और पूरे स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव डाल सकती है.हाई ब्लड प्रेशर को प्रभावी ढंग से प्रबंधित करने के लिए, इसके प्रकार, चरणों और इसे नियंत्रण में रखने की रणनीतियों को समझना महत्वपूर्ण है.

ब्लड प्रेशर के 4 चरण

1. नॉर्मल ब्लड प्रेशर: इस चरण में, ब्लड प्रेशर की रीडिंग आमतौर पर 120/80 mm Hg से नीचे आ जाती है. नॉर्मल ब्लड प्रेशर से जुड़ा कोई महत्वपूर्ण जोखिम नहीं है और व्यक्तियों को हाई ब्लड प्रेशर को रोकने के लिए स्वस्थ लाइफस्टाइल बनाए रखने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है.

2. प्री-हाइपरटेंशन: यह एक प्रारंभिक चेतावनी चरण है, जहां ब्लड प्रेशर की रीडिंग 120-139/80-89 mm Hg तक होती है. हालांकि इसे अभी तक हाई ब्लड प्रेशर के रूप में वर्गीकृत नहीं किया गया है, लेकिन यह हाई ब्लड प्रेशर के विकास के बढ़ते जोखिम को इंगित करता है. प्रगति को रोकने के लिए इस लेवल पर डाइट परिवर्तन, नियमित व्यायाम और तनाव प्रबंधन जैसे जीवनशैली में संशोधन आवश्यक है.

3. स्टेज 1 हाइपरटेंशन: इस चरण में, ब्लड प्रेशर की रीडिंग 140-159/90-99 mm Hg के बीच होती है. यह हाई ब्लड प्रेशर की शुरुआत का प्रतिनिधित्व करता है और ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने और संबंधित स्वास्थ्य खतरों को कम करने के लिए लाइफस्टाइल में बदलाव के साथ-साथ दवा की भी आवश्यकता हो सकती है.

4. स्टेज 2 हाइपरटेंशन: यह सबसे गंभीर चरण है, जिसमें ब्लड प्रेशर की रीडिंग लगातार 160/100 mm Hg से अधिक होती है. ऐसी स्थिति में, ब्लड प्रेशर को कम करने और दिल की बीमारी, स्ट्रोक और किडनी की समस्याओं जैसी जटिलताओं को रोकने के लिए तत्काल डॉक्टर की आवश्यकता होती है.

हाई ब्लड प्रेशर को रोकने के उयाप

स्वस्थ वजन बनाए रखें
मोटापा हाई ब्लड प्रेशर का एक प्रमुख जोखिम कारक है। यदि आपका वजन अधिक है, तो वजन कम करने से आपके रक्तचाप को कम करने में मदद मिल सकती है.

नियमित रूप से व्यायाम करें
व्यायाम रक्तचाप को कम करने और हृदय स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में मदद करता है. हर हफ्ते कम से कम 150 मिनट मध्यम-तीव्रता वाला एरोबिक व्यायाम या 75 मिनट उच्च-तीव्रता वाला एरोबिक व्यायाम करें. इसके अलावा, हर हफ्ते कम से कम दो बार मांसपेशियों को मजबूत करने वाले व्यायाम करें.

स्वस्थ आहार खाएं
स्वस्थ आहार हृदय स्वास्थ्य को बेहतर बनाने और हाई ब्लड प्रेशर के जोखिम को कम करने में मदद कर सकता है. अपनी डाइट में फल, सब्जियां, साबुत अनाज और कम फैट वाले प्रोटीन शामिल करें. नमक का सेवन सीमित करें.

धूम्रपान न करें
धूम्रपान हाई ब्लड प्रेशर का एक प्रमुख जोखिम कारक है. यदि आप धूम्रपान करते हैं, तो धूम्रपान छोड़ने से आपके रक्तचाप को कम करने में मदद मिल सकती है.

तनाव कम करें
तनाव हाई ब्लड प्रेशर को बढ़ा सकता है. तनाव प्रबंधन तकनीकों जैसे कि योग, ध्यान या प्रशिक्षित थेरेपिस्ट के साथ बातचीत से मदद मिल सकती है.

Disclaimer: प्रिय पाठक, हमारी यह खबर पढ़ने के लिए शुक्रिया. यह खबर आपको केवल जागरूक करने के मकसद से लिखी गई है. हमने इसको लिखने में घरेलू नुस्खों और सामान्य जानकारियों की मदद ली है. आप कहीं भी कुछ भी अपनी सेहत से जुड़ा उसे अपनाने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें.

About News Desk (P)

Check Also

मणिमहेश यात्रा 28 अगस्त से, हर श्रद्धालु का होगा पंजीकरण, हेली टैक्सी सेवा भी मिलेगी

चंबा:  उत्तर भारत की प्रसिद्ध मणिमहेश यात्रा में इस बार हर श्रद्धालु का पंजीकरण होगा। ...