आज गांधीजी के आदर्शों को जीवन में उतारने की जरूरत है: अभिषेक सिंह

औरैया। पूरे जनपद में राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी जी एवं पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की जयन्ती जनपद में कोविड-19 के प्रोटोकाल का अनुपालन करते हुए सोशल डिस्टेन्सिंग का ध्यान रखते हुए श्रद्धा, सम्मान एवं हर्षोल्लास के वातावरण में मनायी गयी। गाँधी जयन्ती के अवसर पर सभी सरकारी कार्यालयों में गाँधी जी व लाल बहादुर शास्त्री जी के चित्र पर माल्यार्पण एवं पुष्प अर्पित किये गये।

कलेक्ट्रेट सभागार कक्ष में आयोजित विचार गोष्ठी में जिलाधिकारी अभिषेक सिंह ने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि महात्मा गांधी जी ने लोगों को एक रास्ता दिखाया जिस पर चलकर ही करोड़ों भारतीयों को अंग्रेजों से लड़ने की ताकत मिली। सभी ने उनके बताए गये अहिंसा के रास्ते पर चलकर अंग्रेजों को इस देश से बाहर खदेड़ दिया। उन्होंने कहा कि आज के समय में लोगों को एक मत पर इकट्ठा करना बहुत ही मुश्किल है परंतु गांधीजी के विचार पर करोड़ों लोगों ने अंग्रेजों से लोहा लिया। हम सबको गांधीजी के आदर्शों को अपने जीवन में अपनाना चाहिए।

गांधी जी ने आजादी से पहले ही आत्मनिर्भर भारत की बात कह दी थी जिसकी बात आज के भारत में हो रही है। महात्मा गांधी ने जिस भारत का सपना देखा था उसमें सिर्फ राजनीतिक आजादी नहीं थी, बल्कि एक स्वच्छ एवं विकसित देश की कल्पना भी की थी उस कल्पना को लोगों द्वारा सेवा भाव ढंग से ही पूरा किया जा सकता है। हमारे देश ने आजादी के बाद से बहुत तरक्की की है लेकिन यदि हम सबलोग गांधी जी एवं शास्त्री जी के विचारों को आत्मसात करलें तो निश्चित ही हमारा देश और तरक्की करेगा तथा समाज में खुशहाली आयेगी।

Loading...

गांधी जी एवं शास्त्री जी के पदचिन्हों पर चलकर ही आगे बढ़ा जा सकता है इसलिए आज के युग में भी जो समाज में बेहतर काम करते हैं उन्हे पहचान अवश्य मिलती है। इससे पूर्व जिलाधिकारी सहित अन्य अधिकारियों ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी व पूर्व प्रधानमंत्री प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री जी के चित्र पर माल्यार्पण व पुष्प अर्पित करते उन्हें याद किया गया।

साथ ही गांधी जी के प्रिय भजन रघुपति राघव राजाराम पतित पावन सीताराम को भी गाया गया, जिसे सभी अधिकारियों और कर्मचारियों ने एक साथ गुनगुनाया एवं गांधी जी के विचारों को जीवन में उतारने व उस पर चलने की प्रेरणा ली। इस अवसर पर डिप्टी कलेक्टर विजेता सहित कलेक्ट्रेट के सभी अधिकारीगण व कर्मचारी गण मौजूद रहे।

रिपोर्ट-अनुपमा सेंगर

Loading...

About Samar Saleel

Check Also

महर्षि बाल्मीकि आश्रम में यज्ञ

दुनिया में जब मानव सभ्यता का विकास नहीं हुआ था,उसके बहुत पहले भारत में श्रेष्ठ ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *