Breaking News

आज ‘विश्व व्हिस्की दिवस’ मना रही पूरी दुनिया, जानिए इसका पूरा इतिहास

आज World Whisky Day (विश्व व्हिस्की दिवस) मनाया जा रहा है। यह दिन प्रति वर्ष मई महीने के तीसरे शनिवार को मनाया जाता है। विश्व व्हिस्की दिवस वर्ष 2012 में मनना आरंभ किया गया था। आज विश्व का कोई भी देश नहीं है, जहां व्हिस्की को पसंद नहीं किया जाता हो भारत भी उन देशों में से एक जहां व्हिस्की जमकर पसंद की जाती है। व्हिस्की शब्द की उत्पत्ति usquebaugh शब्द से हुई है, जिसका अर्थ है ओशकी-बे। ओशकी-बे का मतलब जीवन का जल है। इस शब्द को बाद में छोटा कर दिया गया और व्हिस्की शब्द बन गया।

बता दें कि व्हिस्की गेहूं, ज्वार, राई और मकई से निर्मित एक मादक पेय है। आमतौर पर व्हिस्की दो तरह की होती है, माल्टा व्हिस्की और ग्रेन व्हिस्की। ऐसा कहा जाता है कि व्हिस्की का जिक्र पहली बार स्कॉटलैंड में 15वीं शताब्दी में हुआ था। 18वीं शताब्दी से संयुक्त राज्य अमेरिका में व्हिस्की का प्रोडक्शन किया जाता रहा है। आज विश्व स्तरीय व्हिस्की का प्रोडक्शन करने वाले कुछ मुख्य देश स्कॉटलैंड, आयरलैंड, अमेरिका, कनाडा, जापान और भारत हैं।

स्कॉटिश व्हिस्की को सबसे बेहतर माना जाता है। इस देश में व्हिस्की को स्कॉच कहते हैं। भारत में भी व्हिस्की का बड़े पैमाने पर प्रोडक्शन होता है। भारत या विश्व भर में कोई भी उत्सव बिना व्हिस्की के नहीं मनाया जा सकता है। आज के समय व्हिस्की उत्सवों, साहित्य, संगीत के साथ जुड़ी हुई है और जब आप व्हिस्की का एक घूंट लेते हैं, तो आप इतिहास का स्वाद ले रहे होते हैं।

About Aditya Jaiswal

Check Also

इन गंभीर बीमारियों से आपको छुटकारा दिलाने में फायदेमंद हैं छुहारा

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें ज्‍यादात्तर लोग ड्रायफूट्स के नाम पर बादाम, काजू, ...