Breaking News

चाचा ने दी बेटी को गोलियां और फिर माँ के साथ किया ये खौफनाक काम

राष्ट्रीय राजधानी के तिलक नगर इलाके में अपने लिव-इन पार्टनर की हत्या करने वाले आरोपी को शुक्रवार को पंजाब के पटियाला से गिरफ्तार किया गया। आरोपी रेखा रानी की #हत्या के मामले में वांछित था। इस संबंध में 1 दिसंबर 2022 को थाना तिलक नगर में आईपीसी की धारा 302/201 के तहत मामला दर्ज किया गया था।

स्पेशल सीपी क्राइम रविंदर यादव के मुताबिक, 2 दिसंबर 2022 को क्राइम ब्रांच की एक टीम ने आरोपी 45 साल के मनप्रीत सिंह को पंजाब के पटियाला जिले में स्थित उसके पैतृक गांव अलीपुर से गिरफ्तार किया। पुलिस के मुताबिक, आरोपी अपनी लिव इन पार्टनर की हत्या करने के बाद पंजाब भाग गया था।

पुलिस के मुताबिक, आरोपी मनप्रीत गिरफ्तारी से बचने के लिए लगातार अपना ठिकाना बदल रहा था। उसकी गिरफ्तारी के प्रयास में जुटी टीम ने तकनीकी तौर पर निगरानी रखी और आरोपी का पता लगाने में सफल हुई और आरोपी को पंजाब में ढूंढ लिया गया।

आरोपी की कार को टोल नाके से ट्रैक किया गया और फिर उसे उसके पैतृक गांव से गिरफ्तार किया गया। आरोपी को सीआरपीसी की धारा 41.1 (डी) के तहत गिरफ्तार किया गया है। वह पहले भी सात जघन्य मामलों में शामिल है जिनमें फिरौती के लिए अपहरण, हत्या का प्रयास, आर्म्स एक्ट आदि शामिल हैं।

“नशामुक्त समाज आंदोलन-अभियान कौशल का” का अमृत कलश पहुंचा श्री दुर्गा शिक्षा निकेतन इंटर कॉलेज, 450 बच्चों व शिक्षकों ने लिया आजीवन नशामुक्त रहने का संकल्प

जानकारी के मुताबिक, रेखा रानी की हत्या के बाद उसकी बेटी के बयान के आधार पर मामला दर्ज किया गया था। दिल्ली पुलिस के मुताबिक, मृतका की बेटी ने बताया कि वो 10वीं की छात्रा है। वह अपने घर पर अपनी मां और चाचा मनप्रीत के साथ रहती है। उसने बताया कि मेरा माइग्रेन का इलाज चल रहा है।

छात्रा ने बताया कि 1 दिसंबर को जब वह सुबह 6 बजे उठी तो उसके चाचा #मनप्रीत ने उसे गोलियां दीं और सोने को कहा। जब उसे शक हुआ तो उसने मनप्रीत से मां के बारे में पूछा। मनप्रीत ने बताया कि उसकी मां बाजार गई है। इसके बाद छात्रा ने अपने चचेरे भाई को फोन किया और पश्चिम विहार स्थित चचेरे भाई के घर चली गई।

छात्रा और उसके चचेरे भाई ने किसी अनहोनी की आशंका पर मदद के लिए पुलिस को फोन किया। फिर दोनों अपने गणेश नगर स्थित घर पहुंचे तो दरवाजा बंद पाया। छात्रा के मुताबिक, मनप्रीत और उसकी मां के बीच कुछ समय से पैसों को लेकर झगड़ा चल रहा था। उसे शक था कि मनप्रीत ने उसकी मां को नुकसान पहुंचाया है।

उधर, थोड़ी देर बाद पुलिस मौके पर पहुंची और घर का दरवाजा तोड़ा तो अंदर रेखा रानी की लाश पड़ी थी। पुलिस ने पाया कि रेखा के शरीर, उसके चेहरे और गर्दन पर कई चोट के निशान थे, उसकी दाहिने हाथ की छोटी उंगली कटी हुई थी।

स्थानीय सूचना, सीसीटीवी फुटेज, तकनीकी निगरानी, ​​सीडीआर विश्लेषण के आधार पर क्राइम ब्रांच ने आरोपी मनप्रीत को पकड़ने के लिए काम शुरू कर दिया। उसे ट्रैक करने के लिए गुप्त मुखबिरों को लगाया गया। आरोपी बार-बार अपना पता और ठिकाना बदल रहा था। तकनीकी निगरानी रखी गई और उसे पकड़ा गया।

दिल्ली पुलिस के मुताबिक, साल 2015 में आरोपी मनप्रीत रेखा के संपर्क में आया था। थोड़े दिनों के बाद दोनों के बीच प्यार हो गया और वे तिलक नगर के गणेश नगर में लिव-इन में रहने लगे। धीरे-धीरे रेखा मनप्रीत से असुरक्षित महसूस करने लगी। इस बीच मनप्रीत ने रेखा और उसके परिवार से बात न करने की हिदायत दी। पुलिस की पूछताछ में मनप्रीत ने बताया कि वह रेखा के साथ रिश्ते में फंसा हुआ महसूस कर रहा था। इसलिए, उसने रेखा को खत्म करने की योजना बनाई थी और फिर उसे मार डाला।

About News Room lko

Check Also

लखनऊ गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के सिल्वर जुबली वर्ष में आयोजित किया गया सिक्ख मेधावी छात्र सम्मान समारोह

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें लखनऊ। लखनऊ गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के तत्वावधान में ...