Breaking News

पीस पार्टी व राष्ट्रीय ओलमा कौन्सिल ने बनाया यूनाईटेड डेमोक्रेटिक एलायंस

लखनऊ। पीस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष डाॅ. अय्यूब सर्जन ने कहा कि आज उत्तर प्रदेश की सियासत में एक नए अध्याय की शुरूआत हो रही है, जिसकी कोशिश पिछले एक दशक से ज्यादा समय से हो रही थी, प्रदेश की राजनीति में ज़मीनी सतह पर सक्रिय राजनैतिक दल राष्ट्रीय ओलमा कौन्सिल व पीस पार्टी गठबंधन कर रहे हैं। ताकि वोटों का बिखराव रोका जा सके और जनविरोधी व फासीवादी शक्तियों को सत्ता से बाहर करने की दिशा में एक ठोस कदम उठाया जा सके। उन्होने कहाकि आगामी चुनाव में हमारा गठबंधन नया इतिहास रचेगा और इसके परिणाम चैंकाने वाले होंगे।

पीस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने पीस पार्टी व राष्ट्रीय ओलमा कौन्सिल के गठबंधन ‘‘यूनाईटेड डेमोक्रेटिक एलायंस‘‘ (यूडीए) की घोषणा के लिए आयोजित संयुक्त प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए कहा कि स्वतंत्रता के 74 वर्ष बाद भी मुसलमान तथाकथित धर्मनिर्पेक्ष दलों की राजनीतिक गुलामी करते करते आज कहीं का नहीं रहा और पिछड़ेपन की अंतिम सीमा पर पहुंच गया है, जिसका खुलासा सच्चर कमेटी की रिपोर्ट कर चुकी है। ये सभी दल वंचितो, शोषितों और मुसलमानों का मत लेकर सत्ता तो प्राप्त करना चाहते हैं मगर उन्हें हिस्सेदारी नहीं देना चाहते हैं।

हमारे इस गठबंधन का लक्ष्य ही मुसलमानों को राजनीतिक गुलामी से निजात दिलाना है और उनके साथ ही अन्य वंचित व शोषित वर्गों को उनके संवैधानिक अधिकार दिलाना है। आगामी विधानसभा चुनाव में दोनों दल एक साथ मज़बूती से चुनाव लड़ेंगे, अब जो अन्य दल मुस्लिम मतों के बिखरने से रोकने लिए चिंतित हैं, हम उन्हें गठबंधन के लिए आमंत्रित करते हैं कि वह भी साथ आएं और वंचितों, शोषितों व मुसलमानों को तथाकथित धर्मनिर्पेक्ष दलों की गुलामी से निजात दिलाने के लिए सहयोग करें।

राष्ट्रीय ओलमा कौन्सिल के राष्ट्रीय अध्यक्ष मौलाना आमिर रशादी ने कहा कि, ‘‘एक लंबे समय से जनता की मांग थी कि समान विचारधारा के हम दोनों दल एक साथ आएं ताकि जनता हमारे साथ एकजुट होकर एक मचं पर आ सके, यूडीए का गठन इसी दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है, हमारी ये एकजुटता अब जनता को एकजुट करेगी। आने वाले दिनों में समाज में शोषित/वंचित वर्गों का प्रतिनिधित्व करने वाले अन्य राजनैतिक दलों को भी इस एलायंस में शामिल किया जाएगा ताकि समाज के शोषित व वंचित वर्गों को एक साथ लाकर उनके अधिकारों के लिए एक संगठित लोकतांत्रिक आवाज खड़ी की जा सके।

  दया शंकर चौधरी

About Samar Saleel

Check Also

UP Elections से पहले ओपी राजभर ने लिया बड़ा फैसला, बीजेपी में जाने का बना चुके पूरा मन

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें सुभासपा अध्यक्ष ओपी राजभर भले ही अंदर अंदर ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *