Breaking News

UP में आंधी-बारिश और ओलावृष्टि का कहर, 14 लोगों की मौत, CM योगी ने किया सहायता राशि का ऐलान

उत्तर प्रदेश में आंधी और ओलों के साथ गिरी आकाशीय बिजली की चपेट में आने से 14 लोगों की मौत हो गई है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मैनपुरी, कासगंज, एटा ,फिरोजाबाद आदि जिलों में गुरुवार को आए आंधी-तूफान में प्रभावित लोगों को तत्काल राहत पहुंचाने के निर्देश देते हुए कहा कि संकट की इस घड़ी में राज्य सरकार उनके साथ है और प्रभावितों की हर सम्भव मदद की जाएगी।

मुख्यमंत्री ने इस संबंध में यहां जारी निर्देशों में प्रभावित जिलों के जिलाधिकारियों को कहा है कि आंधी-तूफान से जन हानि, पशु हानि एवं मकान क्षति से प्रभावित लोगों को 24 घण्टे के भीतर सहायता राशि उपलब्ध करा दी जाए। उन्हाेंने राज्य आपदा मोचक निधि के दिशा-निर्देशों के अनुरूप पीड़ितों को वित्तीय मदद उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि इस दैवीय आपदा के प्रत्येक मृतक के आश्रितों को चार-चार लाख रुपए की सहायता राशि तत्काल वितरित की जाए।

योगी ने जिलाधिकारियों को यह निर्देश भी दिए हैं कि वे अपने-अपने जिलों में फसलों को हुए नुकसान का तत्काल आकलन करें। उन्होंने कहा कि फसल क्षति का 48 घण्टे के भीतर कृषकवार सर्वे कराया जाए। जिन किसानों की बोई गई फसलों में 33 प्रतिशत से अधिक की क्षति हुई है, ऐसे प्रभावित किसानों को कृषि निवेश अनुदान वितरित किया जाए। इस सम्बन्ध में धनराशि का मांग पत्र शासन को तत्काल उपलब्ध कराया जाए।

मुख्यमंत्री ने सम्बन्धित जिलों के जिलाधिकारियों को नुकसान का आकलन करते हुए प्रभावितों को अविलम्ब मुआवजा देने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि राहत कार्यों में किसी भी प्रकार की शिथिलता बर्दाश्त नहीं की जाएगी। यह जानकारी आज यहां देते हुए राज्य सरकार के प्रवक्ता ने बताया कि जिलाधिकारियों को यह निर्देश भी दिए गए हैं कि आपदा पीड़ितों को वित्तीय सहायता प्रदान करने के लिए यदि किसी जिलों में धनराशि उपलब्ध न हो, ऐसी स्थिति में सम्बन्धित जिलाधिकारी कोषागार नियम-27 के अन्तर्गत धनराशि आहरित करते हुए प्रभावितों को राहत पहुंचाएं। इस धनराशि के समायोजन के लिये शासन को प्रस्ताव भी प्रेषित करें।

गौरतलब है कि मैनपुरी,एटा,फिरोजाबाद, औरैया को गुरुवार शाम आंधी-बारिश के दौरान ओले गिरने फसलों को काफी नुकसान हुआ है। लखनऊ तथा उसके आसपास के क्षेत्रों मध्यरात्रि को आंधी-बारिश के दौरान फसलों को काफी नुकसान हुआ है। अनेक स्थानों पर पड़े उखड़ गए। इन घटनाओं में कई लोगों की मृत्यु होने की भी सूचना है।

About Aditya Jaiswal

Check Also

उच्च शिक्षा में समर्थ पोर्टल “समर्थ से सामर्थ्य” का शुभारंभ

लखनऊ। राज्यपाल आनंदीबेन पटेल की अध्यक्षता में डॉ एपीजे अब्दुल कलाम प्राविधिक विश्वविद्यालय में उच्च ...