Breaking News

योगी आदित्यनाथ : वर्तमान के साथ भविष्य पर ध्यान

रिपोर्ट-डॉ. दिलीप अग्निहोत्री

कोरोना वर्तमान की आपदा है। इसके समाधान हेतु मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ लगातार प्रयास कर रहे है। इसके अंतर्गत उन्होने किसानों को राहत देने वाले कई कदम उठाए है। इसी के साथ वह जरूरतमंदों को भोजन व स्वास्थ सेवाओं पर भी विशेष ध्यान दे रहे है। कोरोना के कारण भविष्य में अर्थव्यवस्था पर भी प्रतिकूल प्रभाव दिखाई देगा। योगी आदित्यनाथ ने इसका भी मुकाबला करने की योजना बनाई है। योगी ने कहा कि वर्तमान वैश्विक परिदृश्य में अमेरिका व जापान आदि चीन से अपना निवेश निकालना चाहते हैं। यह उत्तर प्रदेश के लिए एक अवसर हो सकता है।

उन्होने अवस्थापना एवं औद्योगिक आयुक्त, प्रमुख सचिव एमएसएमई, प्रमुख सचिव औद्योगिक विकास को मिलकर इस निवेश को आकर्षित करने के लिए कार्ययोजना बनाने का निर्देश दिया। किसानों की वर्तमान समस्याओं के समाधान हेतु पहले भी मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए थे। अगले कदम के रूप में उन्हीने कहा कि किसानों को कृषि निवेशों यथा खाद, बीज आदि की समस्या न हों। क्रय केन्द्रों के अलावा एफपीओ आदि अन्य संस्थाओं को किसान के खेत अथवा घर से उसकी उपज के क्रय की अनुमति दी जाए। इस दौरान यह सुनिश्चित किया जाए कि किसान को उसकी उपज के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य से कम मूल्य न प्राप्त हो। जिन पात्र परिवारों के पास राशन कार्ड नहीं है, उनका राशन कार्ड बनवाकर खाद्यान्न उपलब्ध कराया जाए।

स्वयंसेवी संस्थाओं द्वारा तैयार कराए गए भोजन का वितरण जिला प्रशासन की निगरानी में निर्धारित स्थान पर कराया जाएगा। भोजन की गुणवत्ता पर पूरा ध्यान दिया जाएगा। योगी ने गांव के गरीबों पर भी ध्यान दिया। कहा कि ग्रामीण इलाकों से सब्जी आदि लाकर शहरों में बेचने वाले कृषकों को असुविधा नहीं होनी चाहिए। मण्डियों में नोडल अधिकारी तैनात होंगे। यह सोशल डिस्टेंसिंग सुनिश्चित कराएंगे। योगी बीमारों की चिकित्सा और कोरोना को फैलने से रोकने के प्रति भी गम्भीर है। उन्होने कोरोना संक्रमण को छुपाने वाले अथवा जानबूझकर फैलाने वाले लोगों को चिन्हित कर उनके विरुद्ध कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए। इसके लिए जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षकों को जबाबदेह बनाया गया है। स्वास्थ सेवाओं के बेहतर संचालन के लिए चिकित्सकों और अन्य स्वास्थ्यकर्मियों का स्वस्थ रहना जरूरी है।

मुख्यमंत्री ने कोविड के संक्रमण से बचाव के चिकित्सकों एवं स्वास्थ्य कर्मियों समुचित प्रशिक्षण एवं जरूरी उपकरण उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। हाॅट स्पाट क्षेत्रों में के संक्रमण की जांच की कार्रवाई को तेज की जाएगी। इन क्षेत्रों में डोर स्टेप डिलीवरी एवं सेनिटाइजेशन की कार्रवाई को सुदृढ़ एवं प्रभावी बनाया जाएगा। टेलीमेडिसिन की सुविधा जनपद स्तर पर प्रारम्भ की जाएगी।

About Samar Saleel

Check Also

चीमन का बाजार दर्शन

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें बाजार के दर्शन की इच्छा उसी को रखनी ...