सरकार Farmers की अधिकांश मांगें मानने को तैयार

किसान नेताओं ने अपनी मांगों को लेकर आज गृह मंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात की। इस मुलाकात के बाद अब केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत यूपी के दो मंत्री सुरेश राणा और लक्ष्‍मी नारायण के साथ Farmers किसानों से मिलने गाजीपुर बॉर्डर पर जाएंगे। केंद्रीय मंत्री बताया की गृह मंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात के समय किसान नेताओं के साथ अहम मुद्दों पर चर्चा की गई है।

जब Farmers चाहेंगे तभी आंदोलन समाप्त होगा

किसान नेताओं ने गृहमंत्री से मुलाकात के बाद बताया की गृह मंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात के समय किसान नेताओं के साथ अहम मुद्दों पर चर्चा की गई है। साथ ही उन्होंने हमारी मांगों को लेकर एक कमेटी का गठन करने की बात कही है। लेकिन जब किसान चाहेंगे तभी हम आंदोलन खत्‍म करेंगे।

बता दें कि किसानों की मांगों की सूची में बिना शर्त ऋण माफी, गन्ना मिलों का बकाया भुगतान करना, फसलों का अधिकतम मूल्य दिया जाना, खेतों के लिए मुफ्त बिजली और डीजल के दामों में कटौती शामिल है।

नरेश टिकैत ने सरकार पर निशाना साधा

आज किसानों ने गाजियाबाद के दिल्‍ली-यूपी बॉर्डर पर दिल्‍ली में घुसने का प्रयास किया। इस दौरान उन्‍होंने पुलिस की बेरीकेडिंग तोड़ी। इसके बाद पुलिस ने किसानों को शांत करने के लिए पानी की बौछार, आंसू गैस के गोले आदि का प्रयोग किया। इस दौरान पुलिस ने किसानों पर लाठीचार्ज भी किया जिसमें कई किसान घायल भी हो गए।

भारतीय किसान यूनियन (भाकियू) के अध्‍यक्ष नरेश टिकैत ने सरकार पर निशाना साधते हुए कहा की हमें यहां क्‍यों रोका गया है। नरेश टिकैत ने कहा ‘हम सभी किसान अपनी रैली को शांतिपूर्वक और अनुशासित तरीके से कर रहे हैं। अगर हम अपनी ही चुनी हुई सरकार से अपनी समस्‍याएं नहीं बताएंगे तो हम किससे बताएंगे। क्‍या हम इसके लिए पाकिस्‍तान और बांग्‍लादेश जाएं?’

भाकियू का एक प्रतिनिधिमंडल दिल्ली के लिए रवाना

वहीं इस मामले पर गाजियाबाद की जिलाधिकारी ऋतु माहेश्वरी का कहना है कि भाकियू का एक प्रतिनिधिमंडल दिल्ली के लिए रवाना हो गया है, जहां वह केंद्रीय मंत्रियों के साथ वार्ता करेगा। उन्होंने बताया कि फिलहाल जीटी रोड स्थित चार फार्म हाउसों में किसानों के रहने की व्यवस्था की गई है।

One thought on “सरकार Farmers की अधिकांश मांगें मानने को तैयार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *