Breaking News

भारी बारिश से रेलवे ट्रैक डूबा, सफर करने वाले हजारों लोग लोकल में फंसे

महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश  गुजरात समेत कई राज्यों में भारी बारिश हो रही है. मुंबई मेंबारिश  समुद्र में हाई टाइड से रेलवे ट्रैकडूब गया. इसके कारण शनिवार को ठाणे  पनवेल समेत कईमार्गों परलोकल ट्रेनों की आवाजाही पर प्रभाव पड़ा. हजारों यात्री भिन्न-भिन्न स्टेशनों पर घंटों तक फंसे रहे. बीएमसी ने सेंट्रल मुंबई स्टेशन पर लोगों को खाना बांटा. मौसम विभाग ने महाराष्ट्र में अगले दो दिन  गोवा-गुजरात में 24 घंटे में भारी बारिश की चेतावनी दी है.

महाराष्ट्र के 8 जिलों में बारिश के कारण स्कूलों में छुट्‌टी घोषित कर दी गई. इनमें ठाणे, रायगढ़, पालघर, रत्नागिरी, कोल्हापुर, नंदुरबार, नासिक, गढ़चिरौली शामिल हैं. शनिवार सुबहरायगढ़ में मुंबई-गोवा हाईवे पर तेज बारिश के बाद भूस्सखलन हुआ. बेकार मौसम के बावजूद प्रशासन सड़क से मलबा हटाने की कोशिशों में जुटा रहा.

मुंबई  उसके आसपास के इलाकों में बारिश से जनजीवन बुरी तरह प्रभावित हुआ है. पिछले 12 घंटे (प्रातः काल 9.30 बजे तक) तक दहिसर चेकनाका इलाके में 133.32 मिमी, बोरीवली रेलवे स्टेशन में 128, अंधेरी पूर्व में 90.40, मुंबई डोमेस्टिक एयरपोर्ट पर 52.59 मिमी रिकॉर्ड की गई है.ठाणे के महानगर पालिका आयुक्त संजीव जायसवाल ने बताया कि शहर में140 मिलीमीटर बारिश हुई. बारिश के कारण मलाड सब-वे बंद कर दिया गया.

शहर में अब तकमानसून सीजन की 84% बारिश हो चुकी है. स्काईमेट के प्रमुख महेश पलावत ने बोला कि बंगाल की खाड़ी में बने कम दबाव के क्षेत्र  बेहतरीन मानसून के चलते मुंबई, ठाणे  पालघर के इलाकों में अच्छी बारिश हुई है.

Loading...

ओडिशा सरकार ने भारी बारिश की आसार को देखते हुए 5 जिलों के कलेक्टरों को अलर्ट रहने के आदेश जारी किए. प्रदेश के स्पेशल रिलीफ कमिश्नर (एसआरसी) ने मलकानगिरी, नबरंगपुर, कलाहांडी  नुआपाड़ा में बाढ़ जैसी स्थिति की आसार जताई है. मलकानगिरी में एहतियातन3 से 5 अगस्त तक स्कूल बंद रखे जाएंगे.

मौसम विभाग के मुताबिक, राजस्थान में कुछ स्थानों पर तेज  भिन्न-भिन्न स्थानों पर बहुत तेज वर्षा हो सकती है जबकि मध्य प्रदेश, ओडिशा, पंजाब, हिमाचल प्रदेश, पश्चिम राजस्थान, गुजरात, विदर्भ, तटीय आंध्रप्रदेश  तेलंगाना के भिन्न-भिन्न हिस्सों में तेज बारिश होने के संभावना हैं.

बाढ़ के कारण वडोदरा  आसपास के इलाकों से 5,700 से ज्यादा लोगों को सुरक्षित जगह पर ले जाया गया.अधिकारियों ने बताया कि शहर में बारिश से अब तक छह लोगों की मृत्यु हो चुकी है. इसी सप्ताह वडोदरा में बारिश ने 35 वर्ष का रिकॉर्ड तोड़ा. सारे शहर में बाढ़ जैसे दशा हो गए.सड़कों पर मगरमच्छ तैरते दिखे. सूरत में अब तक अधिकतम 159 मिमी बारिश दर्ज की जा चुकी है.

Loading...

About News Room lko

Check Also

असम में भूस्खलन का कहर, तीन जिलों में 20 लोगों की मौत, कई घायल

असम में मंगलवार 2 जून को हुए भूस्खलन में लगभग 20 लोगों की मौत हो ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *