Breaking News

शाम 8.30 बजे दोबारा होगी CWC की बैठक, सोनिया-राहुल ने खुद को चयन प्रक्रिया से किया अलग

नए कांग्रेस अध्यक्ष के चुनाव के लिए पार्टी की सर्वोच्च नीति-निर्धारक इकाई कार्यसमिति की शनिवार को हुई बैठक में किसी नाम पर सहमति नहीं बन पाई और इसके लिए पांच समितियों का गठन किया गया जो आज रात आठ बजे तक अपनी-अपनी राय देंगी और उसके बाद कार्यसमिति अंतिम निर्णय लेगी।

कांग्रेस संचार विभाग के प्रमुख रणदीप सिंह सुरजेवाला ने यहां पार्टी मुख्यालय में कार्यसमिति की बैठक के बाद संवाददाताओं को बताया कि सभी सदस्यों ने राहुल गांधी से अध्यक्ष पद पर बने रहने का अनुरोध किया लेकिन उन्होंने कहा कि वह अपने इस्तीफे पर अडिग हैं। इसके बाद कार्यसमिति के सदस्यों की पांच समितियां बनायी गयीं जो अलग-अलग विचार-विमर्श कर आज रात आठ बजे तक नये अध्यक्ष के लिए अपनी राय देंगी। इन समितियों की रिपोर्ट मिलने के साढ़े आठ बजे कार्यसमिति की फिर बैठक होगी जिसमें नये अध्यक्ष के बारे में निर्णय लिया जाएगा।

First slide

उन्होंने बताया कि पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और मौजूदा अध्यक्ष राहुल गांधी ने इन समितियों में शामिल होने से यह कहते हुए इनकार कर दिया कि उनकी मौजूदगी से नये अध्यक्ष के चुनाव की लोकतांत्रिक प्रक्रिया प्रभावित हो सकती है। सुरजेवाला ने बताया कि कार्यसमिति की बैठक में ‘संवैधानिक संस्थाओं को खत्म करने’ की भारतीय जनता पार्टी सरकार की कोशिशों पर भी चिंता व्यक्त की गई। बैठक में गांधी ने कहा कि वह देश में लोकतंत्र को बचाने के लिए अपना संघर्ष निरंतर जारी रखेंगे।

सीडब्ल्यूसी की बैठक से एक दिन पहले राहुल गांधी ने पार्टी के वरिष्ठ पदाधिकारियों की बैठक में कहा था कि कांग्रेस अध्यक्ष को लेकर अगले कुछ दिनों के भीतर निर्णय हो जाएगा। माना जा रहा है कि आज की सीडब्ल्यूसी की बैठक में नए अध्यक्ष के चयन के लिए किसी पैनल अथवा व्यवस्था पर निर्णय होगा। पार्टी के नये अध्यक्ष को लेकर मुकुल वासनिक, मल्लिकार्जुन खड़गे, अशोक गहलोत और सुशील कुमार शिंदे सहित कई वरिष्ठ नेताओं के नामों की चर्चा है।

 

दरअसल, राहुल गांधी के इस्तीफे के बाद से बनी असमंजस की स्थिति और नेतृत्व के संकट को खत्म करने की कोशिश करते हुए कांग्रेस ने सीडब्ल्यूसी की बैठक बुलायी है। पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने पहले पार्टी अध्यक्ष की जिम्मेदारी किसी युवा नेता को सौंपने की बात की और फिर महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के नाम की पैरवी की। कांग्रेस के कई दूसरे नेता भी अध्यक्ष पद के लिए प्रियंका के नाम की पैरवी कर चुके हैं।

About Aditya Jaiswal

Check Also

यूपी के लिए उपयोगी होने का आधार

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें कुछ समय पहले नरेंद्र मोदी ने एक जनसभा ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *