पीस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पर यौन शोषण का आरोप , लखनऊ मे मुकदमा दर्ज़

लखनऊ- राजधानी के मड़ियाव थाने पीस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष के खिलाफ यौन शोषण के आरोप मे में मुकदमा दर्ज कर लिया गया हैगौरतलब है की बीते कुछ दिनों से पीस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ अय्युब खान के ऊपर एक युवती का यौन शोषण करने का मामला प्रकाश मे आया था । युवती की हालत गंभीर होने पर परिजन उसे लखनऊ के मेडिकल कॉलेज ट्रामा मे इलाज़ करा रहा थे ।  । शुक्रवार देर रात इलाज़ के दौरान युवती ने दम तोड़ दिया । परिजनों का आरोप है कि जब वह मुकदमा दर्ज करवाने चौक कोतवाली गए तो पुलिस ने मामला बड़ा होने के चलते केस दर्ज करने से मना कर दिया। इसके बाद पीड़ित परिवार मड़ियांव कोतवाली पहुंचा। यहां एसएसपी के निर्देश के बाद मुकदमा दर्ज कर पुलिस ने पड़ताल शुरू कर दी है।
युवती के पिता का आरोप है कि उनकी बेटी को डॉक्टर बनाने का सपना दिखाकर उसका चार वर्षों तक यौन शोषण किया। इस दौरान उसे गलत दवाएं भी दी गईं लेकिन समाज में लोक लाज के डर से बेटी ने किसी को नहीं बताया। आरोप है कि जब बेटी की हालत बिगड़ गई तो घरवालों ने परीक्षण करवाया। इसमें बेटी की किडनी में पथरी होने की जानकारी मिली। तब डॉ अय्यूब ने बेटी को दवाएं दीं, आरोप है कि गलत दवाएं देने से बेटी को पिछले 8 माह से रक्तश्राव हो रहा था। इसकी जब घरवालों ने इलाज की बात कही तो डॉक्टर खुद ही इलाज करता रहा। जब बेटी की हालत बेहद खराब हो गई तो घरवाले उसे लेकर राजधानी के ट्रॉमा सेंटर पहुंचे जहां उसकी इलाज के दौरान मौत हो गई। पीड़िता के घरवालों ने डॉअय्यूब के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की थी। मड़ियांव थाना प्रभारी नागेश मिश्रा ने बताया मृतका के भाई की तहरीर मिलने के बाद डॉ. अयूब खान के खिलाफ आईपीसी की धारा 376,304,506 के तहत दर्ज कर मामले की पड़ताल शुरू कर दी गई है।
विस्तृत जानकारी के अनुसार जानकारी के मुताबिक संतकबीरनगर के एक गांव के रहने वाले रामू और उनकी मां सुनीता ट्रॉमा सेंटर में अपनी 22 वर्षीय बेटी रीना (सभी नाम काल्पनिक) का इलाज करवा रहे थे। यहां बीती रात लड़की की इलाज के दौरान मौत हो गई। रामू का आरोप है कि एक बार जनसभा के दौरान उनका परिवार भी पहुंचा था। परिवार में उनकी बेटी भी साथ में गई थी। इस दौरान घरवाले जब अय्यूब से मिलने गए तो उन्होंने बेटी के बारे में पूछा। यह बात साल 2012 की है तब उनकी बेटी हाईस्कूल में थी। परिजनों ने बताया कि तब अय्यूब ने उनसे कहा कि बेटी पढ़ने में तेज है उसे डॉक्टरी की पढ़ाई करवाओ तो भविष्य बन सकता है। उनकी बात मानकर घरवालों ने बेटी को अय्यूब के पास पढ़ेने के लिए भेज दिया। इसके बाद अय्यूब ने बेटी का यौन शोषण शुरू कर दिया। बेटी ने घरवालों को यह बात अपने भविष्य और समाज में बदनामी के डर से नहीं बताई थी। आरोप है कि इस दौरान हानिकारक दवाएं भी उनकी बेटी को खिलाईं गईं। आरोप है कि गलत दवाएं खाने से बेटी की किडनी में खराबी बताई गई। उसे पिछले 8 माह से रक्तश्राव हो रहा है, हालत अधिक बिगड़ने पर उसे परिवार वाले लखनऊ के ट्रॉमा सेंटर पहुंचे थे। यहां परिवारवालों ने मीडिया के सामने पूरा मामला उजागर कर दिया।
 डॉअय्यूब से बात की गई तो उन्होंने बताया की यह सारी साजिश समाजवादी पार्टी की है। उन्होंने बताया कि 2012 के विधान सभा चुनाव में भी ऐसी हवा उड़ी थी तब सुमित्रा नाम की लड़की ने ऐसे ही गंभीर आरोप लगाए थे। यह मामला कोर्ट में जाने के बाद जांच हुई तो फर्जी पाया गया इसके सारे दस्तावेज भी उनके पास है ।  यहां 27 फरवरी को पांचवे चरण का मतदान होना है इससे पहले फिर सपा ने साजिश करके यह काम किया है। उन्होंने कहा कि यह सारे आरोप निराधार एवं फर्जी हैं जांच करवा ली जाये सब साफ हो जायेगा- पीस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष (डॉ अय्युब खान)

About Samar Saleel

Check Also

रायबरेली के लिए जो सोनिया गांधी नहीं कर पाईं, जाते-जाते उसे पूरा कर गए अरुण जेटली

पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली के पार्थिव शरीर को रविवार को पूरे राजकीय सम्मान के ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *