अलगाव फैलाने के बजाय एकता का रोल निभाये मीडिया: महबूबा मुफ्ती

जम्मू कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने कहा कि मीडिया कश्मीर में अलगाव फैलाने के बजाय एकता का रोल निभाये। मीडिया को चाहिए कि कश्मीरियों को भारत के करीब लाया जाये। उन्होंने इंडिया फाउंडेशन की ओर से आयोजित तीन दिवसीय ‘इंडिया आइडियाज कॉनक्लेव 2017’ में यह बातें कही। महबूबा ने कहा कि मीडिया अलगाववादियों को गालियां दे रहा और उन्हें आरोपी बना रहा है। लेकिन ऐसे अलगाववादियों को जहर उगलवाने के लिए उन्हें टीवी पर जगह न दी जाये। उन्होंने कहा कि वह नहीं जानतीं कि आखिर ऐसा क्यों हो रहा है। अगर यह टीआरपी के कारण किया जा रहा है तो उसे ऐसा नहीं करना चाहिए। आखिर ये देश से जुड़ा हुआ मुद्दा है। उन्होंने कहा कि मीडिया को मौजूदा स्थिति से कश्मीर को बाहर निकालने में हमारी मदद करनी चाहिए। दरअसल महबूबा मुफ्ती का मानना है कि मीडिया के कुछ धड़े राज्य से सबसे वाहियात व्यक्ति को चुनते हैं, जो देश के खिलाफ बोल सके। वे ऐसे व्यक्ति को चुनते हैं जिसे कोई नहीं जानता और कोई कश्मीरी उसका परिचित नहीं। उसे वे टीवी पर दिखाते हैं और फिर वे लोग किसी से उसे भिड़ाते हैं। ये दोनों लड़ते हैं, कश्मीर और अन्य देशवासी उन्हें देखते हैं। जिसका उन पर असर भी पड़ता। लोगों की मानसिकता बदलती है, जो कि गलत है। उन्होंने कहा कि मीडिया को कश्मीरियों और शेष देश को एक दूसरे के करीब लाने में एक भूमिका निभानी चाहिए। कश्मीरियत कश्मीर के लोगों के कामकाज को प्रदर्शित करती है। मुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार उन कश्मीरी पंडितों की भी मदद कर रही है जो विस्थापित नहीं हुए हैं। उन्होंने कहा, मेरे पिता ने 2002 में कश्मीरी पंडितों के अस्थायी अवास बनाना शुरू किया था। अब उनके लिए और कई स्थानों पर आवास बनाये जा रहे हैं। जिससे कश्मीर में पंडितों को सुविधाएं मिल सके।

About Samar Saleel

Check Also

Chidambaram की गिरफ्तारी पर भड़की कांग्रेस, कहा- दिनदहाड़े लोकतंत्र की हत्या हुई

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व गृहमंत्री व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम की आईएनएक्स मीडिया ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *