Breaking News

यूपी के लिए उपयोगी होने का आधार

कुछ समय पहले नरेंद्र मोदी ने एक जनसभा में योगी आदित्यनाथ को यूपी के लिए बहुत उपयोगी बताया था। उनके इस कथन का अनेक प्रकार से विश्लेषण किया गया। अपने अपने आग्रहों के अनुरूप सहमति व असहमति व्यक्त की गई। विपक्षी पार्टियों ने कहा योगी आदित्यनाथ उत्तर प्रदेश के लिए अनुपयोगी है। लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का कथन पांच वर्ष के तथ्यों पर आधारित था। यह सब दस्तावेज के रूप में सार्वजनिक है। वास्तविक विकास वह है जो आमजन को परिलक्षित हो। पूर्ववर्ती सरकारों के साथ ही वर्तमान सरकार का रिपोर्ट कार्ड जनता के समक्ष है। इनमें से अनेक तथ्य अनुभव में रहे है। कल्याणकारी योजनाओं के क्रियान्वयन का भौतिक सत्यापन किया जा सकता है। उत्तर प्रदेश में करोड़ों की संख्या में गरीबों किसानों आदि को सीधा व शत प्रतिशत लाभ मिला है। इसका वह अनुभव करते है। इसके माध्यम से उनके जीवन में बदलाव आया है।

यह सब ईज ऑफ लिविंग में सुधार के परिणाम है। इनको नजरअंदाज नहीं किया जा सकता। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने विषय में तो कुछ नहीं कहा। किंतु यूपी के लिए भाजपा सरकार की उपयोगिता को अवश्य रेखंकित किया। वर्तमान सरकार ने प्रदेश में कानून व्यवस्था को सुदृढ़ बनाया। इसका सकारात्मक परिणाम प्रत्येक क्षेत्र में परिलक्षित है। विकास के व्यवस्था में सुधार अपरिहार्य होता है। योगी सरकार ने इसको साकार किया। माफियाओं की अवैध सम्पत्ति पर बुलडोजर चलाया गया।

दंगाइयों पर नकेल कसी गई। वस्तुतः यह कार्य कानून व्यवस्था के दृष्टिगत व्यापक सन्देश थे। इनका असर पूरे प्रदेश पर हुआ। दूसरी तरफ विपक्ष ने बुलडोजर को मुद्दा बनाने का प्रयास किया। उसने कहा कि यह बुलडोजर वाली सरकार है। योगी आदित्यनाथ अपनी दृढ़ता पर कायम रहे। कहा कि दुबारा सरकार बनी तो अवैध सम्पत्ति पर पुनः बुलडोजर चलाने का कार्य किया जाएगा। दंगाइयों के प्रति किसी प्रकार की नरमी नहीं दिखाई जाएगी। इस मसले पर भी विपक्ष का रुख अलग था। निर्णय मतदाताओं को करना है। विचारधाराएं व मंसूबे अलग अलग है। जबकि नीति स्पष्ट है। यह स्थिति मतदाताओं के लिए सही होती है। वह बता सकते है कि उन्हें किस प्रकार की सरकार पसंद है। किस प्रकार की सरकार उत्तर प्रदेश के लिए उपयोगी होगी। विगत पांच वर्षों में कोई दंगा नहीं हुआ। माफिया दंगाई व अराजक तत्व खामोश है।

योगी आदित्यनाथ ने उन तथ्यों का उल्लेख किया जिसके लिए भाजपा सरकार जरूरी है। प्रदेश में बेहतर कानून व्यवस्था,घोटालों पर नियंत्रण,दंगाइयों के साथ कठोरता, तुष्टिकरण की समाप्ति, सरकारी भर्ती में पारदर्शिता,बिजली की निर्बाध व पर्याप्त आपूर्ति,अनेक एक्सप्रेस वे,एन्टी रोमियो अभियान, इंसेफेलाइटिस और कोरोना जैसी महामारी से बचाव,किसानों को उनकी उपज का पूरा दाम और सम्मान निधि,
एक जिला एक उत्पाद योजना,इसकी तर्ज पर एक जिला एक मेडिकल कॉलेज,निवेश व औद्योगिकरण आदि कारणों से भाजपा सरकार यूपी के लिए उपयोगी है। पूर्वांचल एक्सप्रेसवे लोकर्पण के साथ ही उत्तर प्रदेश सबसे ज्यादा एक्सप्रेसवे वाला राज्य बन गया है।

एक्सप्रेस बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे,गोरखपुर लिंक एक्सप्रेसवे व बलिया लिंक एक्सप्रेसवे का कार्य प्रगति पर है।कुछ समय पहले प्रधानमंत्री ने मेरठ से प्रयागराज तक बनने वाले गंगा एक्सप्रेस वे का शिलान्यास किया था। सबसे बड़ी गंगा एक्सप्रेसवे परियोजना अगले करीब दो वर्ष पूरी होगी।गोरखपुर लिंक एक्सप्रेसवे का निर्माण गोरखपुर आजमगढ़ के बीच तेजी से चल रहा है। गंगा एक्सप्रेसवे लगभग छह सौ किमी लंबी होगी। देश की सबसे लंबी गंगा एक्सप्रेसवे मेरठ से प्रयागराज तक बनेगी। इसके लिए पंचानबे प्रतिशत से ज्यादा जमीन खरीदी जा चुकी है।

सरकार ने दशकों से लम्बित वाण सागर, अर्जुन सहायक नहर, सरयू नहर राष्ट्रीय परियोनाओं को पूरा किया। किसानों को समय से पानी के साथ खाद भी मिले इसके लिए करीब तीन दशक से बंद गोरखपुर के खाद कारखाने की जगह नया कारखाना लगाया। सबके स्वास्थ्य का सपना साकार करने के लिए गोरखपुर एम्स का भी उद्घाटन हो चुका है। विकास का यह सिलसिला जारी है। पिछले कुछ वर्षों में यहां तीन लाख करोड़ रुपये की सड़कें बनी है। डबल इंजन की सरकार आगामी पांच साल में पांच लाख करोड़ रुपये का काम उत्तर प्रदेश में करेगी। कुल मिलाकर जब आठ लाख करोड़ का काम होगा तब उत्तर प्रदेश के सड़कों का इंफ्रास्ट्रक्चर अमेरिका के बराबर होगा। निर्माणाधीन एक्सप्रेस वे के समानांतर लैंड बैंक भी स्थापित हो रहे है। डिफेंस एक्सपो व इन्वेस्टर्स समिट में निवेश के समय से ही यह योजना आगे बढ़ रही है।

इसके अलावा प्रत्येक पचास किलोमीटर पर यात्री सुविधा के लिए ढांचागत निर्माण किया जाएगा। एक बार फिर योगी आदित्यनाथ ने एक्सप्रेस वे के आसपास के क्षेत्रों को औद्योगिक विकास एवं व्यावसायिक उपयोग के रूप में पहले से ही चिन्हित करने के निर्देश दिए है। सड़कों के संजाल से प्रदेश में फोर लेन इण्टर स्टेट कनेक्टिविटी विकसित हुई है। वाराणसी से हल्दिया तक वॉटर हाई वे क्रियाशील है। आने वाले दिनों में प्रदेशवासियों को सी प्लेन की सुविधा भी उपलब्ध होने वाली है। आठ लाख करोड़ रुपये के कार्य प्रदेश के इन्फ्रास्ट्रक्चर को विश्वस्तरीय बना देंगे।

अयोध्या में पांच सौ वर्ष बाद श्री राम मंदिर का निर्माण व ढाई सौ वर्ष बाद भव्य श्री काशी विश्वनाथ धाम का लोकार्पण सांस्कृतिक विरासत का सम्मान है। विपक्ष के लिए यह सब सोचना भी असंभव है। योगी आदित्यनाथ ने लखनऊ में भाजपा के थीम सांग व चुनावी अभियान के नारे यूपी फिर मांगें भाजपा सरकार तथा मीडिया सेंटर का शुभारंभ किया। कहा कि भाजपा सरकार सबका साथ सबका विकास व सबका विश्वास की भावना से कार्य कर रही है। वर्तमान सरकार राष्ट्रवाद,विकास सुशासन व अंत्योदय के विचार को चरितार्थ कर रही है। भाजपा सरकार ने उन सभी संकल्पों को पूरा किया। वंशवादी व जातिवादी राजनीति से प्रदेश को मुक्ति मिली है। सांस्कृतिक राष्ट्रवाद के साथ विकास के अभूतपूर्व कार्य किये गए है।

About Samar Saleel

Check Also

काशी विद्यापीठ में लगातार हो रहे अनियमितता एवं भ्रष्टाचार के खिलाफ छात्रों ने खोला मोर्चा

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें प्रेस वार्ता के दौरान, छात्रों ने नेताओं को ...