खनन माफिया पर जिम्मेदार मेहरबान, पुलिस की लापरवाही से बढ़ रहे हादसे

मोहम्मदी-खीरी। घना कोहरे शुरू होते ही आज पहले ही दिन गोमती पुल पर अवैध खनन कर मिट्टी ला रहे ट्रैक्टर-ट्राली और बरेली से दाल लादकर लखीमपुर जा रही डीसीएम की टक्कर हो गयी। जिससे तीन घण्टे हाईवे जाम रहा। दोनो ओर तीन-तीन चार-चार किमी हैवी एवं छोटे सैकड़ो वाहनो की जाम लग गयी। इस जाम में दोनों ओर एक महिला मरीज को लेकर आ रही दूसरी लेने जा रही एम्बुलेन्स भी फंसी रही।

पुलिस ने कड़ी मेहनत कर क्रेन से ट्रैक्टर जो गोमती में पलटते पलटते बचा को हटाया गया, तब डेढ घण्टे की मशक्कत के बाद वाहनो का जाम हटवाया जा सका। र्दुघटना ट्रैक्टर चालक की जबरदस्ती एवं लापरवाही के कारण बतायी जा रही है। डीसीएम चालक लाईट का डिपर देता रहा लेकिन खनन माफियाओ की हनक और पुलिस एवं प्रशासन का संरक्षण होने के कारण दबंग ट्रैक्टर चालक ने उस पर ध्यान नहीं दिया। जब दोनो वाहन आमने-सामने आ गए तब ट्रैक्टर चालक साइड में भगा। जिससे पुल की रैलिंग छतिग्रस्त हो गयी। रैलिंग के नीचे बने चबूतरे के कारण ट्रैक्टर नदी में गिरने से बच गया।

सत्ता की हनक, नोटो की धमक और दबंगई के बल पर मिट्टी और बालू का अवैध खनन बेखौफ जारी है। गोमती के तटीय क्षेत्र से मिट्टी का अवैध खनन पूरे पांच वर्षो से बेखौफ जारी है। जिसमें बीसियो ट्रैक्टर-ट्राली दिनरात बेखौफ होकर जिम्मेदारो के सामने से गुजरती रहती हैं। लेकिन इन पर न पुलिस अंकुश लगाती है और न खनन विभाग। खनन में लगे ट्रैक्टर-ट्रालियो से अनियन्त्रित दौड़ने के कारण आये दिन र्दुघटनाए भी घटित होती है।

Loading...

इसी उदण्डता का ये परिणाम है कि आज प्रातः लगभग 08ः30 बजे बरेली से दाल लादकर एक डीसीएम संख्या यूपी-25एटी-5147 बरेली से दाल लादकर लखीमपुर जा रहा था। गोमती पुल पर पहुंचते ही इसके चालक को सामने से ट्रैक्टर-ट्राली आता दिखा तो चालक ने ट्रैक्टर चालक को रूकने का संकेत लाइट का डिपर जलाकर दिया, लेकिन ट्रैक्टर चालक ने उस पर ध्यान नहीं दिया और दन-दनाता हुआ तेज गति से घुसता चला आया। गोमती नदी पर नये पुल निर्माण में लगे लेवरो आदि ने बताया कि ट्रैक्टर की धना कोहरा होने के उपरान्त भी खासी तेज गति थी। उसने डीसीएम से दिया जा रहा हारन एवं लाईट डिपर पर कोई ध्यान ही नहीं दिया और घुसता चला आया। ट्रैक्टर चालक ने सर पर खड़ी डीसीएम को देखकर साइड में भागा और बे्रक लगा लिया साथ ही डीसीएम चालक ने भी ब्रेक लगा दिया जिससे बड़ी र्दुघटना घटित होने से बच गयी। बीच पुल पर र्दुघटना होने से जाम लग गया।


ट्रैक्टर चालक की दबंगई व लापरवाही के चलते लगभग तीन घण्टे जाम की स्थिति बनी रही। दोनो ओर तीन, चार किलोमीटर लम्बी-लम्बी सैकड़ो वाहनो की लाईने लग गयी। इस जाम में ग्राम मूड़ागालिब से महिला रोगी को मोहम्मदी सीएससी ला रहे एम्बुलेन्स भी फसी रही। मरीज ही नहीं यात्री वाहनो बसो, कारो में बैठे बच्चे, महिलाए खासे परेशान रहे।

पुलिस ने क्रेन मंगवा कर कड़ी मशक्कत के बाद ट्रैक्टर-ट्राली को खिचवा कर हटवाया। र्दुघटना के बाद डीसीएम के चालक व परिचालक भाग गए थे। इस कारण डीसीएम को भी मशक्कत के बाद हटवाया जा सका। तब एक घण्टे तक पुलिस ने मौजूद रह कर जाम में फसे वाहनो को निकलवा कर सामान्य स्थिति बहाल कराई। खनन माफिया के दवाब व डीसीएम चालक परिचालक के भाग जाने के कारण पुलिस डीसीएम को कोतवाली ले आयी और लक्ष्मी प्रभाव और वैभव के चलते ट्रैक्टर मरम्मत के लिये खड़ा हो गया। खनन माफियाओं पर पुलिस का यह दयाभाव आएदिन र्दुघटना गावत तो दे ही रहा है साथ राजस्व व खनिज सम्पदा को हानि पहुंचा रहा है।

रिपोर्ट-सुखविंदर सिंह कम्बोज

Loading...

About Samar Saleel

Check Also

मतदाता सूची में नाम जोड़ने के लिए 5 दिसंबर को चलेगा विशेष अभियान

औरैया। निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार अर्हता तिथि एक जनवरी, 2021 के आधार पर विधानसभा मतदाता ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *