Breaking News

AUS vs IND : जसप्रीत बुमराह और मोहम्‍मद शमी एक साथ नहीं खेलेंगे, जानिए क्‍यों

टीम इंडिया एक बार फिर इंटरनेशनल सीरीज खेलने के लिए लगभग तैयार है. भारतीय टीम इस वक्‍त ऑस्‍ट्रेलिया में है और पहला वन डे मैच 27 नवंबर को खेला जाएगा. हालांकि इस बीच टीम इंडिया एक मुश्‍किल में फंस गई है. पता चला है कि लिमिटेड ओवर की सीरीज में तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह और मोहम्‍मद शमी एक साथ मैच नहीं खेलेंगे, इसमें से किसी एक ही खिलाड़ी को मौका दिया जाएगा.

भारत के प्रमुख स्ट्राइक गेंदबाज जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शमी के ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीमित ओवरों के छह मैचों में एक साथ खेलने की संभाना कम है, क्योंकि टीम मैनेजमेंट उन्हें 17 दिसंबर से शुरू होने वाली चार टेस्ट मैचों की सीरीज के लिए तैयार रखना चाहता है. भारतीय टीम के करीब दो महीने के दौरे की शुरुआत 27 नवंबर से तीन मैचों की एकदिवसीय सीरीज से होगी. इसके बाद टीम को तीन ही मैचों की टी-20 सीरीज खेलनी है. लिमिटेड ओवरों की इन सीरीज के मैच सिडनी और कैनबरा में खेले जाएंगे.

बीसीसीआई (भारतीय क्रिकेट बोर्ड) के सूत्रों की माने तो तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह और मोहम्‍मद शमी का कार्यभार प्रबंधन मुख्य कोच रवि शास्त्री और गेंदबाजी कोच भरत अरुण के लिए सर्वोपरि है. टेस्ट मैचों के लिए भारतीय टीम का पहला अभ्यास मैच छह से आठ दिसंबर के बीच खेला जाएगा. इस दौरान भारतीय टीम को आखिरी के दो टी-20 अंतरराष्ट्रीय खेलने हैं, जो छह और आठ दिसंबर को हैं.

Loading...

इशांत शर्मा की चोट की स्थिति अभी साफ नहीं है जिससे जसप्रीत बुमराह और मोहम्‍मद शमी दोनों भारतीय टेस्ट अभियान के लिए काफी अहम होंगे. ऐसे में टीम प्रबंधन, जिसमें रवि शास्त्री, कप्तान विराट कोहली और गेंदबाजी कोच शामिल हैं, 12 दिनों के अंदर लिमिटेड ओवरों के छह मैचों में इन दोनों को एक साथ मैदान में उतार कर कोई जोखिम नहीं लेना चाहेगा.

बोर्ड के एक सूत्र ने कहा कि अगर जसप्रीत बुमराह और मोहम्‍मद शमी टी-20 अंतरराष्ट्रीय (चार, छह और आठ दिसंबर) सीरीज में खेलते हैं, तो उन्हें टेस्ट अभ्यास के लिए एक ही मैच मिलेगा, मुझे नहीं लगता कि टीम प्रबंधन ऐसा चाहेगा. इस बात की संभावना अधिक है कि लिमिटेड ओवरों की सीरीज के दौरान मोहम्‍म्‍द शमी और जसप्रीत बुमराह को एक साथ टीम में शामिल नहीं किया जाए. एक संभावना यह हो सकती है कि दोनों एकदिवसीय मैचों में खेले जहां उनके पास 10 ओवर गेंदबाजी करने का मौका होगा.

एकदिवसीय के बाद वे टेस्ट मैचों में खेले. मोहम्‍मद शमी को गुलाबी गेंद दिन-रात्रि टेस्ट में इस्तेमाल होने वाली गेंद से अभ्यास करते भी देखा गया है, जिससे उनकी प्राथमिकता का पता चलता है. भारतीय टीम को 17 दिसंबर से एडीलेड में दिन-रात्रि टेस्ट खेलने से पहले सिडनी में 11 से 13 दिसंबर तक गुलाबी गेंद से एक अभ्यास मैच भी खेलना है. जसप्रीत बुमराह और मोहम्‍मद शमी अगर टी20 मैचों से बाहर बैठते हैं तो इसमें गेंदबाजी का दारोमदार दीपक चाहर, टी नटराजन और नवदीप सैनी की तेज गेंदबाजों की तिकड़ी के साथ युजवेन्द्र चहल, रविन्द्र जडेजा और वाशिंगटन सुंदर जैसे स्पिनरों पर होगा.

Loading...

About Aditya Jaiswal

Check Also

ऑस्ट्रेलियाई जमीन पर भारतीय शेर हुए ढेर, दूसरे वनडे में 51 रनों से हारकर सीरिज गंवाई

पहले ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों की शानदार बल्लेबाजी और फिर गेंदबाज पैट कमिंस की धारदार गेंदबाजी की ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *