दिल्ली-NCR में सांस लेना हुआ दूभर, नोएडा में AQI 889 तो आईटीओ में 765

देश की राजधानी दिल्‍ली (Delhi) और उसके आसपास के इलाकों में तमाम उपायों के बावजूद वायु प्रदूषण (Air Pollution) की स्थिति में सुधार होता नहीं दिख रहा है. बुधवार सुबह कई इलाकों में हवा की गुणवत्‍ता (AQI Index) सीवियर कैटेगरी में पहुंच गई. इससे सांस लेने में कठिनाई के साथ ही आंखों में जलन की समस्‍या भी सामने आने लगी है. खासकर बुजुर्गों और बच्‍चों के लिए यह स्थिति बहुत खतरनाक है. खबर है कि दिल्ली में औसत AQI 724 पर पहुंच गया है.

जानकारी के मुताबिक, दिल्ली-एनसीआर की हवा की गुणवत्ता बहुत ही खराब हो गई है. यहां पर भी लोगों का सांस लेना मुश्किल हो गया है. प्रदूषण का आलम यह है कि दिल्ली यूनिवर्सिटी और इसके आसपास के इलाकों में AQI 765 है, जो कि बेहद गंभीर श्रेणी में आता है. वहीं आईआईटी दिल्ली में AQI 933 है.

Loading...

इसी तरह नोयडा में 889, ITO दिल्ली में 765 और पूसा में AQI 730 पाया गया है. उल्लेखनीय है कि 0 और 50 के बीच एक्यूआई को अच्छा, 51 और 100 के बीच संतोषजनक, 101 और 200 के बीच मध्यम, 201 और 300 के बीच खराब, 301 और 400 के बीच बेहद खराब और 401 से 500 के बीच गंभीर श्रेणी में माना जाता है.

पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के वायु गुणवत्ता निगरानी संगठन वायु गुणवत्ता प्रणाली एवं मौसम पूर्वानुमान व शोध (सफर) ने बताया था कि स्थिति में तब तक सुधार होने की संभावना नहीं है जब तक कि पराली जलाने की घटनाओं में भारी कमी नहीं आती है.

Loading...

About Aditya Jaiswal

Check Also

किसान आंदोलन की गूंज विदेश पहुंची, 36 ब्रिटिश सांसदों की मांग, भारत सरकार से बात करे ब्रिटेन

केंद्र सरकार के बनाए कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसानों के समर्थन में देश ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *