Breaking News

सीएम योगी ने पूछा- अपराधियों की छाती पर बुल्‍डोजर चलना चाहिए, जवाब मिला हाँ

मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने अपराधियों के खिलाफ अपनी सरकार द्वारा चलाये जा रहे ऑपरेशन क्लीन अभियान को लेकर सोमवार को गोरखपुर में अलग अंदाज में बात की। उन्होंने जनता के बीच सवाल उछाला कि सरकार को अपराधियों की छाती पर बुलडोजर चलाना चाहिए कि नहीं? जिस पर जनता ने भी हां कहते हुए जवाब दिया। उन्होंने फिर पूछा कि सरकार की इस कार्रवाई का विरोध तो नहीं कर रहे? जनता का समर्थन तो है ना? लोगों ने इसका भी हां में जवाब दिया।

मुख्यमंत्री ने जनता के रुख को भांपते हुए कहा कि सरकार अपराधियों और उपद्रवियों की संपत्ति कब्जे में लेकर उसे गरीबों में बांट रही है। सरकार का बुलडोजर अपराधियों की छाती को रौंद रहा है। हमारी सरकार में विकास भी होगा और विनाशकारी तत्वों के खिलाफ सख्त कार्रवाई भी। मुख्‍यमंत्री राप्ती नदी के मलौनी बांध पर स्थित तरकुलानी रेगुलेटर के पास रेगुलेटर और वन निर्मित पम्पिंग स्टेशन के लोकार्पण समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने ऐलान किया कि सूबे के 50 हजार राजस्व गांवों में दिसंबर तक जल जीवन मिशन के तहत ‘हर घर नल से शुद्ध पेयजल’ परियोजना शुरू हो जाएगी। उन्होंने कहा कि बुंदेलखंड और विंध्य क्षेत्र में परियोजना पर काम शुरू हो चुका है। घर-घर शुद्ध पेयजल की उपलब्धता इंसेफेलाइटिस जैसी बीमारी से भी निजात दिलाएगी। यह योजना गंदगी और अशुद्ध पेयजल, दोनों समस्याओं को निराकरण कर देगी। मुख्यमंत्री के कार्यक्रम में केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत और प्रदेश के जल शक्ति मंत्री डॉ महेंद्र सिंह भी मौजूद रहे।

डबल इंजन की सरकार में विकास कार्यो की रफ्तार कई गुना बढ़ जाती है

मुख्यमंत्री ने तरकुलानी में 172 करोड़ की 30 परियोजनाओं का लोकार्पण किया। इसके अलावा 39.65 करोड़ की 15 परियोजनाओं का शिलान्यास भी किया।परियोजनाओं में गोरखपुर मंडल में बाढ़ नियंत्रण की 145 करोड़ से अधिक की 10 परियोजनाएं भी शामिल रहीं। इसमें 10 सड़कें, 02 उपरगामी सेतु और 6 विद्यालय निर्माण के कार्य शामिल हैं। योगी ने अखिलेश के बयां पर तंज  कहा कि जब डबल इंजन की सरकार होती है तो विकास कार्यो की रफ्तार कई गुना बढ़ जाती है। केंद्र और प्रदेश में भाजपा की सरकार है। डबल इंजन की सरकार कई गुना स्पीड से लोगों के जीवन में खुशहाली ला रही है।

मुख्यमंत्री ने तरकुलानी रेगुलेटर और निर्मित पंपिंग स्टेशन की आवश्यकता का उल्लेख करते हुए कहा कि 2009 में जब से यह क्षेत्र गोरखपुर संसदीय क्षेत्र में आया तब से यहां पंपिंग स्टेशन की मांग की जा रही थी। यह परियोजना 50 हजार परिवारों की 2 लाख की आबादी को बीमारी से बचाएगी।  उन्होंने कहा तरकुलानी रेगुलेटर पर पंपिंग स्टेशन की यह परियोजना क्षेत्र में खेती को बचाने में मदद करेगी। किसान अब रबी और खरीफ दोनों फसलें ले पाएंगे। खोराबार ब्लॉक इंसेफेलाइटिस से सर्वाधिक प्रभावित क्षेत्रों में शामिल रहा है। पंपिंग स्टेशन न होने से यहां जलजमाव से बीमारियां होती थीं। तरकुलानी का यह पंपिंग स्टेशन जलजमाव की समस्या का समाधान करेगा।

विश्व स्तरीय चिकित्सा सुविधाओं वाले एम्स का पीएम करेंगे उद्घाटन

सीएम योगी आदित्यनाथ ने घोषणा की कि 1990 से बंद चल रहा गोरखपुर का खाद कारखाना बनकर लगभग तैयार है। अक्टूबर तक पूरी तरह बनकर तैयार हो जाएगा। उसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथों इसका लोकार्पण कराएंगे। उन्होंने अक्तूबर में विश्व स्तरीय चिकित्सा सुविधाओं वाले एम्स के भी पीएम मोदी के हाथों उद्घाटन किए जाने की जानकारी दी। गोरखपुर में विकास कार्यों को गिनाते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि रामगढ़ताल कभी अपराधियों का अड्डा होता था, अब पर्यटन केंद्र बन चुका है। अपनी सुंदरता में यह मुंबई को भी फेल कर देगा। अब वहां फिल्मों की शूटिंग की जाती है।

रेगुलेटर से 47 गांवों को मिली सौगात

2017 में मुख्यमंत्री बनने के तीन माह बाद ही उन्होंने रेगुलेटर का विस्तार और पंपिंग स्टेशन बनवाने के लिए केंद्रीय जल आयोग से इसकी स्वीकृति दिलाई। 1 फरवरी 2018 से निर्माण कार्य शुरू कराया और सोमवार को करीब 85 करोड़ की लागत से बने इस पंपिंग स्टेशन का लोकार्पण कर दिया। क्षेत्र की 838 हेक्टेयर कृषि भूमि इससे लाभान्वित होगी। एक सीजन में जलमग्न रहने वाली भूमि पर किसान अब दोनों सीजन की फसलों को उगा सकेंगे। तरकुलानी रेगुलेटर प्रोजेक्ट के तहत निर्मित पंपिंग स्टेशन में 11 अदद 30 क्यूसेक पंप, 3 अदद 10 क्यूसेक पंप, 5 अदद 625 केवीए डीजल जनरेटर सेट और सक्शन टैंक की व्यवस्था है। इसके फीडर चैनल की लंबाई 280 मीटर है।

About Samar Saleel

Check Also

जनेश्वर मिश्रा की जयंती पर सपा ने साइकिल रैली निकाली, भाजपा सरकार कोसा

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें औरैया। वरिष्ठ समाजवादी नेता जनेश्वर मिश्रा जयंती पर ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *