Breaking News

मंदिर सेवादार की रहस्यमय परिस्थितियों में मौत, हत्या की आशंका पर शव को पीएम के लिए भेजा

फिरोजाबाद। थाना उत्तर क्षेत्र गोपाल आश्रम मंदिर परिसर में बीती देर रात चोरों ने चोरी की घटना को अंजाम दिया। आज तड़के रोजाना की तरह यहां कई वर्षो से मंदिर महंत के रूप में कार्य कर रहे पं. सीताराम शर्मा जब आये मंदिर के पहले गेट से प्रवेश किया अंदर आये तो दान पात्र खुले देख दंग रह गये, तब ज्ञात हुआ सूचना पुलिस को दी गयी।

वहीं कुछ देर बाद पता चला कि गोपाल आश्रम परिसर में ही एक कमरे में निवास कर रहे साधु जिनको भगत जी के नाम से जाना जाता है मृत अवस्था में पड़े हैं उनका सही नाम दीनदयाल बताया गया। सूचना पर एसएसपी अजय कुमार, एसपी सिटी मुकेश चन्द्र मिश्र, सीओ सिटी हरिमोहन सिंह सहित थाना प्रभारी उत्तर अनूप कुमार भारतीय व पुलिस टीम मौके पर पहुंच गयी। कुछ देर बाद नगर विधायक मनीष असीजा भी यहां आ गये। उन्होंने भी पूरी स्थिति को विस्तार से जाना। एसएसपी अजय कुमार ने एसपी सिटी व सीओ सिटी सहित गंभीरता से मौका मुआयना किया।

Loading...

इस दौरान एसएसपी ने मीडिया से बात करते हुये बताया कि एसएसपी अजय कुमार ने मौका मुआयना कर जानकारी देते हुये बताया कि यहां थाना उत्तर क्षेत्र में गोपाल आश्रम के नाम से मंदिर है यहां मौका मुआयना किया गया है। रेजगारी को छोड़कर कुछ कैश दान रखा था चोर ले गये हैं, देखा गया मंदिर परिसर में कोई सीसीटीवी कैमरा नहीं है पूरे मंदिर परिसर में दो गेट हैं, एक गेट के पास बाहर एक कैमरा है जिसमें दो लोग संदिग्ध नजर आये चेहरा ढके हुये हैं अंदर घुसते दिखाई दे रहे हैं रात करीब दो बजे का समय लग रहा है उससे क्लू मिला है सुराग मिले हैं जल्द ही इन चोरों को तलाश कर गिरफतार करके बरामदगी इत्यादि जानकारी हासिल की जायेगी। इसमें चार टीमें गठित की जा रही हैं ताकि इन चोरों को सही मुकाम तक पहुंचाया जा सके।

वहीं गोपाल आश्रम परिसर में एक साधु की मौत को लेकर कहा कि दीनदयाल नामक व्यक्ति का मृत शरीर मिला है उसमें काफी अकड़न है जिसे देखकर लग रहा है कम से कम 12 घंटे पहले उनकी मृत्यु हुई होगी। साथ ही साथ शरीर पर कोई चोट का निशान नहीं न गले पर न बाकी शरीर पर, कमरे में दूध रखा है वह भी उबला नहीं है, कोई ऐसी चीज नहीं लग रही। स्वभाविक मृत्यु लग रही है। फिर भी पता करने के लिये मृत्यु स्वभाविक है या किसी अन्य प्रकार से उनके शरीर को पोस्टमार्टम के लिये भिजवा दिया गया है। शाम तक जैसे ही रिपोर्ट आयेगी हम गहराई से पड़ताल करेंगे। फिलहाल इनका नाम दीनदयाल प्रकाश में आया है बीस पच्चीस साल से यहां रहते थे। साफ सफाई का काम भी करते थे एक ट्रांसपोर्टर ने इनको रखा था उनकी तरफ से पुलिस को सूचना दी गई है। शव को पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया गया है।

रिपोर्ट- मयंक शर्मा

Loading...

About Aditya Jaiswal

Check Also

वित्तीय प्रबंधन में निपुण होती है महिलाएं

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें लखनऊ। महापौर संयुक्ता भाटिया ने कहा कि महिलाएं ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *