औघड़ आश्रम में मनाया गया दीपोत्सव कार्यक्रम

रायबरेली। सई नदी तट स्थित अवधूत भगवान राम कुष्ठ सेवा आश्रम में देव दीपावली के पावन पर्व पर दीपोत्सव का कार्यक्रम सम्पन्न हुआ। मानव सेवा के लिए विश्वविख्यात धार्मिक संस्था अवधूत भगवान राम कुष्ठ सेवा आश्रम में भक्तों द्वारा दीपोत्सव का कार्यक्रम किया गया।

उल्लेखनीय है कि आश्रम परिसर में कार्तिक पूर्णिमा के अवसर पर देव दीपावली के दिन विगत डेढ़ दशक पूर्व दीपोत्सव के कार्यक्रम की शुरूआत की गयी जो कि निरन्तर जारी है। इस अवसर पर आश्रम में पड़ाव, वाराणसी से पधारे औघड़ सन्त मगहिया राम ने भक्तों को सम्बोधित करते हुए कहा कि देव दीपावली कार्तिक पूर्णिमा का त्योहार है। यह विश्व के सबसे प्राचीन शहर काशी की संस्कृति एवं परम्परा है। यह दीपावली के पन्द्रह दिन बाद मनाया जाता है।

Loading...

प्राचीन परम्परा और संस्कृति में आधुनिकता की शुरूआत कर काशी ने विश्वस्तर पर एक नये अध्याय का अविष्कार किया था, जिससे यह विश्वविख्यात आयोजन लोगों को आकर्षित करने का एक क्रम है, आपने प्रत्येक व्यक्ति को अपने-अपने घरों में दीपोत्सव करने पर भी बल दिया। इस अवसर पर राघवेन्द्र मिश्र, डा. शशांक द्विवेदी, बृजेश सिंह, करूणा शंकर बाजपेयी, आरके यादव, अभिषेक विक्रम सिंह, दल बहादुर सिंह, राजन रस्तोगी, सचिन श्रीवास्तव, आशुतोष सिंह, धर्मेन्द्र यादव, विनोद जायसवाल उपस्थित रहे।

रिपोर्ट-दुर्गेश मिश्रा

Loading...

About Samar Saleel

Check Also

सनातन धर्म में गोपाष्टमी का महत्व

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें ऐसा माना जाता है कि गौ माता सनातन ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *