Breaking News

डीएम एसपी ने नाव पर बैठ किया बाढ़ प्रभावित गांव का निरीक्षण

औरैया। उत्तर प्रदेश के औरैया जिले में खतरे के निशान के करीब पांच ऊपर वह रही यमुना नदी के जल सैलाव के कारण नदी के किनारे बसे दर्जनों गांव बाढ़ की चपेट में आकर डूब गये है, बाढ़ पीड़ित ग्रामीणों को गांव से सुरक्षित निकालने के लिए जिलाधिकारी सुनील कुमार वर्मा व पुलिस अधीक्षक अपर्णा गौतम ने गुरूवार को नाव पर बैठकर बाढ़ प्रभावित गांवों का भ्रमण किया।

जिले में यमुना नदी के जल भराव का 113 मीटर पर खतरे का निशान है पर पिछले दिनों लगातार हुई बारिश व कोटा बैराज से पानी छोड़े जाने के बाद जिले में आज यमुना का जल स्तर 117.36 मीटर तक पहुंच गया है जिसके देर रात्रि तक 118 मीटर तक पहुंचने की संभावना है। यमुना नदी में आयी बाढ़ के कारण यमुना के तटवर्ती गांव मई, अस्ता, सिकरोड़ी, असेवा, बबाइन, असेवटा, अनुरूद्धनगर, गोहानी कला व गोहानी खुर्द समेत एक दर्जन से अधिक गांव पानी से डूब गये हैं।

बाढ़ की विभीषिका एवं गांवों में फंसे लोगों को बाहर निकालने के लिए जहां आज जिलाधिकारी ने राज्य आपदा मोचक दल (एसडीआरफ) के सेना नायक को पत्र लिखकर दो स्टीमर एवं अन्य आवष्यक उपकरण समेत दल के 15 जवानों की मांग की है।

इसके अलावा आज सायं जिलाधिकारी सुनील कुमार वर्मा व पुलिस अधीक्षक अपर्णा गौतम ने अन्य अधिकारियों के साथ लेकर नाव से बाढ़ से डूबे गांव अस्ता व सिकरोड़ी गांव का जायजा लिया।

उन्होंने वहां पर रह रहे निवासियों से अपील करते हुए कहा कि नदी का जलस्तर लगातार बढ़ रहा है। अतः आप सभी लोग प्रशासन द्वारा चिन्हित की गई सुरक्षित जगह पर पहुंच जाएं इसके लिए नाव का भी प्रबंध किया गया है। वहां पर खाना पानी दवा आदि की पूरी व्यवस्था की गई है। सभी लोग वहां पर जल्द से जल्द जरूरी सामान लेकर पहुंचे।

उन्होंने बाढ़ के पानी से क्षतिग्रस्त हुए मकानों का भी निरीक्षण किया और प्रभावित लोगों से बात भी की। निरीक्षण के दौरान उन्होंने उप जिला अधिकारी को निर्देश दिये कि वह बाढ़ से प्रभावित होने वाले घरों की सूची बनाएं और आपदा राहत मद से उनको लाभ दिलाएँ जिनके घर गिर गए हैं।

साथ ही ऐसे परिवारों को मुख्यमंत्री आवास योजना के तहत आवास दिया जाए। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिया कि बाढ़ से प्रभावित सभी गांव वालों को पूरी सहायता दी जाए उनके लिए हर संभव मदद की जाए। यदि जरूरत पड़े तो नुमाइश ट्रस्ट के पैसे का इस्तेमाल भी किया जा सकता है। बाढ़ की वजह से कोई भी जनहानि नहीं होनी चाहिए।

रिपोर्ट-शिव प्रताप सिंह सेंगर

About Samar Saleel

Check Also

नरेंद्र गिरि केस: सीबीआई क्या सुलझा पाएगी मर्डर मिस्ट्री, जल्द खुल सकते हैं कई बड़े राज

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष नरेंद्र गिरि ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *