Breaking News

राजनाथ सिंह ने भेजी डीआरडीओ की टीम, बनेंगे दो कोविड हॉस्पिटल

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में कोरोना के कारण हालात काफी बिगड़ने के बाद रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने डीआडीओ की एक टीम लखनऊ भेजी है। इस टीम के द्वारा लखनऊ में दो स्पेशल कोविड अस्पताल बनाए जाएंगे। दोनों अस्पतालों में बेड की क्षमता लगभग एक हजार की होगी। इसके अलावा रक्षा मंत्री विशेष विमान से डॉक्टर्स की टीम भी भेज रहे हैं।

प्राप्त जानकारी के अनुसार रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (डीआरडीओ) को निर्देश दिया है कि लखनऊ में कोविड-19 के रोगियों के लिए वह 250 से 300 बिस्तरों वाले दो अस्पतालों का निर्माण करे। सूत्रों केअनुसार श्री सिंह के निर्देश पर डीआरडीओ की एक टीम (16 अप्रैल) शुक्रवार को लखनऊ पहुंच रही है। सूत्रों ने बताया कि शहर में दो अलग-अलग स्थानों पर मिशन मोड में इन अस्पतालों का निर्माण किया जाएगा।

इनमें से प्रत्येक अस्पताल में 250 से 300 बिस्तर होंगे। उत्तरप्रदेश में बृहस्पतिवार को कोविड-19 से 104 लोगों की मौत हो गई और 22,439 नए मामले सामने आए जिससे राज्य में मृतकों की कुल संख्या 9480 हो गई जबकि कुल संक्रमित लोगों की संख्या 7,66,360 पहुंच गई। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों से निपटने के लिए शुक्रवार को लखनऊ में एक हजार बिस्तरों वाले अस्थायी कोविड-19 अस्पताल बनाने के आदेश दिए।

स्वास्थ्य सेवाएं लड़खड़ाई

आपको बता दें कि, लखनऊ में रोजाना पांच से छह हजार मामले सामने आ रहे हैं। जिसके चलते अस्पतालों में स्वास्थ्य सेवाएं चरमरा गई हैं। लोगों को इलाज नहीं मिल रहा। कई शिकायतें सामने आई हैं कि, डॉक्टर मरीजों से ठीक बर्ताव नहीं कर रहे हैं। चूंकि राजनाथ सिंह लखनऊ से सांसद भी हैं और केंद्र में अहम मंत्री पद भी उनके पास है।रक्षा मंत्री के इस ऐलान के बाद स्वास्थ्य सेवाओं की स्थिति में कुछ सुधार आने की उम्मीद है।

पूर्व मंत्री भगवती सिंह के निधन के बाद उनके बेटे की मौत

इससे पहले कोरोना संक्रमित पूर्व मंत्री भगवती सिंह के निधन के बाद आज उनके बेटे राकेश कुमार सिंह का निधन हो गया। आज (16 अप्रैल) सुबह लगभग साढ़े सात बजे कोरोना की वजह से उनकी मौत हो गई। राकेश 67 वर्ष के थे और कोरोना वायरस से पीड़ित थे।

बताते चलें कि पूर्व मंत्री भगवती सिंह के निधन के तकरीबन 10 दिन बाद उनके पुत्र राकेश कुमार सिंह का भी निधन हो गया। वे कोरोना वायरस से पीड़ित थे। उनके दो बेटे और दो बेटियां हैं। आज सुबह रिवर बैंक कॉलोनी स्थित आवास पर उनका निधन हुआ। आपको बता दें कि, कुछ दिन पहले भगवती सिंह का निधन हो गया था। उनका शव केजीएमयू को दान किया गया था, जहां जांच में कोरोना संक्रमित निकलने के बाद भगवती सिंह के शव को घर वालों को अंतिम संस्कार के लिए सौंप दिया गया था।

दया शंकर चौधरी
Loading...

About Samar Saleel

Check Also

भाजपा सरकार की कुरीतियां प्रदेशवासियों को पड़ रहीं भारी: अखिलेश यादव

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *