Breaking News

केरल के अस्पताल में हुई खौफनाक घटना, मरीज ने कर दी डॉक्टर की हत्या

केरल के कोल्लम जिले में कोट्टारक्कारा के एक तालुक अस्पताल में एक खौफनाक घटना हुई है। इलाज के लिए अस्पातल लाए गए एक निलंबित स्कूल शिक्षक ने बुधवार को उसके घाव की मरहम-पट्टी कर रही 23 साल की एक महिला डॉक्टर की हत्या कर दी।

एक्ट्रेस डोनल बिष्ट ने किया फेक कास्टिंग का खुलासा, कहा मेरे साथ करण जौहर…

केरल

उसने सर्जरी में इस्तेमाल होने वाले ब्लेड से हमला कर उसकी हत्या की है। आरोपी को परिवार के अन्य सदस्यों के साथ मारपीट में घायल होने के बाद पुलिस अस्पताल लेकर आई थी। युवा डॉक्टर की हत्या को लेकर सरकार और पुलिस के प्रति नाराजगी जाहिर करते हुए हाईकोर्ट की पीठ ने कहा कि यह डॉक्टरों की सुरक्षा को लेकर उनकी नाकामी को दर्शाता है। आपको बता दें कि इस घटना के बाद डॉक्टर हड़ताल पर चले गए हैं।

कोट्टारक्कारा पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि आरोपी की पहचान संदीप के रूप में हुई है। उन्होंने बताया कि अस्पताल में जब डॉक्टर वंदना दास, आरोपी के पैर के घाव की मरहम-पट्टी कर रही थीं तभी वह अचानक हिंसक हो गया। कैंची और सर्जरी में इस्तेमाल होने वाले ब्लेड से वहां खड़े सभी लोगों पर हमला कर दिया। अधिकारी ने बताया कि यह घटना बुधवार तड़के की है। हमले में बुरी तरह घायल डॉक्टर को तिरुवनंतपुरम में एक निजी अस्पताल ले जाया गया जहां उनकी कुछ की घंटों में मौत हो गई। अधिकारी के मुताबिक, आरोपी को अस्पताल लेकर आए पुलिस कर्मी भी हमले में घायल हो गए।

हाईकोर्ट का नया आदेश, इन कर्मचारियों को भी रिटायरमेंट पर पुरानी पेंशन पाने का हक, फटाफट पढ़े पूरी खबर

हाईकोर्ट ने कहा कि पुलिस को प्रशिक्षित किया गया था और उनसे महिलाओं और बच्चों की सुरक्षा की उम्मीद की गई थी, लेकिन वे युवा डॉक्टर की सुरक्षा करने में विफल रहे। न्यायमूर्ति देवन रामचंद्रन और कौसर एडप्पागथ की विशेष पीठ ने सरकार से पूछा, ”यह तंत्र की पूर्ण विफलता है। अस्पताल में केवल सहायता पोस्ट होना पर्याप्त नहीं है।

जब आप (पुलिस) जानते थे कि आदमी असामान्य व्यवहार कर रहा है, तो आपको उसे बांधकर रखना चाहिए था। आपको अप्रत्याशित अनुमान लगाने में सक्षम होना चाहिए। अन्यथा वहां पुलिस की कोई जरूरत नहीं है। समय के साथ, हम लापरवाह हो गए हैं। क्या आपने इस लड़की के साथ अन्याय नहीं किया?” अदालत ने कहा कि उसने पहले भी कई मौकों पर चेतावनी दी थी कि अगर इन चीजों पर ध्यान नहीं दिया गया तो ऐसी घटनाएं होंगी।

केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने डॉक्टर की मौत पर शोक व्यक्त किया और कहा कि यह घटना चौंकाने वाली और बेहद दर्दनाक है। उन्होंने कहा कि मामले की विस्तृत जांच की जाएगी। विजयन ने एक बयान में कहा, ”ड्यूटी के दौरान स्वास्थ्य कर्मियों पर हमला अस्वीकार्य है। घटना की गहन जांच की जाएगी। सरकार चिकित्सकों और स्वास्थ्य कर्मियों पर हमलों के मामलों में कड़ी कार्रवाई करेगी।”

About News Room lko

Check Also

भारत से कुवैत पहुंचते ही मौत की आग में समाए लोकनंदम; केरल के राज्यपाल बोले- हादसा शब्दों से परे

कुवैत के मंगफ इलाके में एक छह मंजिला इमारत में भीषण आग लगने से 49 ...