Breaking News

छाती में महसूस होता रहता है भारीपन? कहीं ये किसी गंभीर बीमारी का संकेत तो नहीं

क्या आपको भी अक्सर छाती में दर्द और भारीपन महसूस होता रहता है? अगर हां तो इसे अनदेखा न करें, कुछ स्थितियों में ये गंभीर स्वास्थ्य समस्याओं का कारण भी हो सकती है। सीने में जकड़न या भारीपन के कई वजह हैं, ये शारीरिक और मानसिक दोनों प्रकार की दिक्कतों के कारण हो सकती है। इतना ही नहीं दिल का दौरा पड़ने की स्थिति में भी छाती में दर्द देखा जाता रहा है, यही कारण है कि समय रहते इस समस्या को लेकर डॉक्टर की सलाह लेना आपको गंभीर स्थितियों से बचाने में मददगार हो सकती है।

स्वास्थ्य विशेषज्ञ कहते हैं, कुछ लोगों को अक्सर रात में सोते समय ये दिक्कत देखी जाती रही है। आइए जानते हैं कि ये दिक्कत क्यों होती है और किन स्थितियों में आपको विशेष सावधान हो जाना चाहिए?

पेरीकार्डिटिस की समस्या

छाती में होने वाले दर्द और असहजता का एक कारण पेरीकार्डिटिस की भी समस्या हो सकती है। पेरिकार्डिटिस, हृदय की दिक्कत है जिसके कारण सीने में दर्द और भारीपन बना रहता है। पेरीकार्डियम हृदय के आसपास के ऊतकों की परतों को कहा जाता है। पेरीकार्डिटिस तब हो सकता है जब पेरीकार्डियम में संक्रमण या फिर इसमें सूजन हो जाता है। संक्रमण की स्थिति का अगर उपचार न किया जाए तो यह कई गंभीर स्वास्थ्य समस्याओं को भी बढ़ाने वाली हो सकती है।

मांसपेशियों में तनाव

सीने में दर्द इंटरकोस्टल मांसपेशियों में खिंचाव के कारण भी हो सकता है, पसलियों में खिंचाव आने से इस तरह की समस्याओं का खतरा और अधिक हो सकता है। इंटरकोस्टल मांसपेशियों पर दबाव पड़ने से पसलियों पर जोर पड़ सकता है और छाती में भारीपन महसूस हो सकता है।

पाचन विकारों की समस्या

छाती में होने वाली जकड़न की समस्या, गैस्ट्रोएसोफेगल रिफ्लक्स डिजीज (जीईआरडी) के कारण भी हो सकती है। ये एक पाचन विकार है जिसके कारण छाती में दबाव और सीने में दर्द की समस्या भी देखी जाती रही है। जीईआरडी तब होता है जब पेट का एसिड वापस ग्रासनली की ओर आ जाता है। सीने में दर्द के साथ-साथ आपको अत्यधिक लार आने, भोजन निगलते समय दर्द होने या गले में खराश की समस्या भी हो सकती है। जीईआरडी का समय रहते उपचार किया जाना आवश्यक माना जाता है।

मानसिक स्वास्थ्य की दिक्कत

छाती में दर्द और जकड़न की दिक्कत शारीरिक समस्याओं के साथ कुछ स्थितियों में मानसिक विकारों के कारण होने वाली समस्या भी है। स्ट्रेस और एंग्जाइटी की स्थिति में भी छाती में दिक्कत महसूस हो सकती है। चिंता विकार मानसिक स्वास्थ्य स्थिति है जिसके कारण आप आशंकित और तनावग्रस्त महसूस कर सकते हैं। ये छाती में दर्द और जकड़न की समस्या के साथ मांसपेशियों में तनाव, पसीना आने, कंपन, दिल की धड़कन तेज होने, चक्कर और मितली की दिक्कत हो सकती है। मानसिक स्वास्थ्य विकारों का समय पर उपचार किया जाना जरूरी होता है।

About News Desk (P)

Check Also

चेहरे के दाग-धब्बों के लिए वरदान है पुदीना, यहां जानें इसके इस्तेमाल का सही तरीका

गर्मी का मौसम चल रहा है। इस मौसम में खाने पीने के साथ-साथ अपनी त्वचा ...