Breaking News

तकनीक के साथ संस्कार का महत्व

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शिक्षा क्षेत्र में आधुनिक तकनीक के साथ ही संस्कार को भी महत्व देते हैं. उनकी सरकार इसके अनुरूप कार्य कर रही है. नई शिक्षा नीति में भी इन तत्वों का समावेश है. योगी आदित्यनाथ ने प्राथमिक विद्यालयों में ऑपरेशन के माध्यम से व्यापक सुधार किया है।

👉22 जनवरी को होगी रामलला की प्राण प्रतिष्ठा, पीएम मोदी होंगे समारोह में शामिल

योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर मण्डल के परिषदीय प्राथमिक
शिक्षकों हेतु टैबलेट वितरण, आईसीटी लैब्स का लोकार्पण
तथा स्मार्ट क्लास की स्थापना का शुभारम्भ किया. उन्होंने कहा कि टैबलेट शिक्षकों को तकनीकी दृष्टि से सक्षम बनाएगी.
राष्ट्र को समर्थ बनाने के लिए शिक्षा व्यवस्था को संस्कार युक्त
बनाना पड़ेगा।

तकनीक के साथ संस्कार का महत्व

चौसठ हजार शिक्षकों की भर्ती हुई, इस दौरान स्कूल चलो
अभियान ऑपरेशन कायाकल्प, निपुण भारत अभियान जैसे अनेक कार्यक्रम चलाए गए। पहले बच्चों को बैग, बुक्स, यूनिफॉर्म आदि प्रदान किए जा रहे हैं. इसकी धनराशि अभिभावकों को तकनीक के माध्यम से पारदर्शिता के साथ भेजी जाती है।

👉सनातन विरोधियों पर योगी का प्रहार

केंद्र और राज्य सरकार की विभिन्न योजनाओं से बेसिक शिक्षा परिषद के बच्चों को जोड़ा जाएगा. बेटियों को ‘मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला’ जैसी योजनाओं से जोड़ा जाएगा।

रिपोर्ट-डॉ दिलीप अग्निहोत्री

About Samar Saleel

Check Also

सनी लियोन के साथ शो की व्यस्तता के कारण योद्धा के प्रमोशन से गायब हैं तनुज विरवानी

मुंबई (अनिल बेदाग)। इतने वर्षों में विभिन्न माध्यमों में एक सफल अभिनेता के रूप में ...