Breaking News

नहीं बढ़ पा रहे पुलिस के कदम

रायबरेली। 26 जून को क्षेत्र के अप्टा गाँव मे हुए नरसंहार मे 5 युवको की नृशंस हत्या के मामले मे पुलिस के कदम ठिठके हुए है। सरकार के मंत्रियो के अलग अलग सुर और सियासी बवंडर के कारण पुलिस कोई कार्यवाही करने से पहले सहमी सी है । 26 जून की घटना के बाद मामले मे नामजद चार और अज्ञात 5 लोगो को पुलिस जेल भेज चुकी है, जिनकी गिरफ्तारी पूर्व मे तैनात रहे अधिकारियों द्वारा की गयी थी । एक सप्ताह हो गए कोतवाल कप्तान और सी ओ सब बदल दिये गए, आए अधिकारियों ने कार्यभार संभाला लेकिन घटना स्थल के निरीक्षण के अलावा नए अधिकारियों ने कोई कार्यवाही नहीं की है । इस बीच सियासत गरमाई हुई है । विधान सभा मे घटना को लेकर शोर हुआ तो संसद मे भी ऊंचाहार कांड को लेकर कांग्रेस के राज्य सभा सदस्य प्रमोद तिवारी सरकार से दो दो हाथ करने को तत्पर है। सरकार का एक बड़ा वर्ग मृतको के साथ खड़ा है तो कुछ मंत्री आरोपियों की पैरवी कर रहे है, ऐसे मे पुलिस क्या करे । उसके सामने दुविधा भरी स्थित है, घटना मे बड़ी संख्या मे लोग शामिल थे, ये बात ग्रामीणो के बयान और परिस्थितजन्य साक्ष्यों से स्पष्ट हो चुकी है । पाँच लोगो को लाठी डंडों से मारना फि र उनको जिंदा जलाने के लिए सफारी पलट कर आग लगाना । दो लोगो को जीप मे फेंककर जलाना, ये मात्र चंद लोगो का काम नहीं है , मामले मे और लोगो की तलाश होनी चाहिए थी । साक्ष्यों के संकलन की दिशा मे आगे बढुकर मौके से गायब हुए असलाहों की बरमदगी होनी चाहिए थी । चश्मदीद की खोज होना चाहिए था । लेकिन पुलिस की विवेचना एक प्रकार से रुकी हुई है, पुलिस मामले को यहीं पर समाप्त करने की फि राक मे है, क्योकि नए अधिकारी किसी राजनैतिक पचड़े मे नहीं पडना चाह रहे है, पुलिस चाहती है कि किसी प्रकार मामला शांत हो, अब तो तीन दिनो से कोई भी अधिकारी गाँव नहीं जा रहा है, गाँव मे सुरक्षा को देखते हुए पीएसी तैनात है ।

घटना स्थल पर नहीं मारी गयी थी अनूप को गोली:-
पोस्ट मार्टम रिपोर्ट मे मृतक अनूप मिश्रा की दायीं जन्ध मे 315 बोर की कारतूस से गोली मारी गयी थी ? लेकिन अभी तक की जांच मे पुलिस के हाथ ऐसा कोई सबूत हाथ नहीं लगा है कि अनूप को घटनास्थल पर ही गोली मारी गयी थी या उसे कहीं और गोली मारा गया था । अनूप को जिस तमंचे से गोली मारी गयी थी पुलिस उसे मुख्य आरोपी राजा यादव के घर से बरामद करने का दावा कर रही है । लेकिन अभी तक पुलिस यह नहीं पता लगा पायी है कि अनूप को कहाँ किन परिस्थितियों मे गोली मारी गयी थी । और उसे आरोपियों मे किसने गोली मारी थी, घटना स्थल पर लाठी डंडों से पीटने का साक्ष्य मिला है । मौके पर गड्ढों से खून से सनी हुए मिट्टी पुलिस ने सील करके विधि विज्ञान प्रयोगशाला भेजी है, मारने मे प्रयुक्त हुए लाठी डंडों को भी बरामद किया जा चुका है । लेकिन साक्ष्य के कई बिन्दु पर अभी तक पुलिस का प्रयास शून्य ही रहा है । घटना स्थल के बारे जो लोगो ने पुलिस को बताया है, उनके अनुसार मौके पर कोई फ ायरिंग नहीं हुई । जो भी प्रहार हुआ सब लाठी डंडों से हुआ और बाद मे ज्वलनशील पदार्थ से आग लगाई गयी है ।

Loading...
Loading...

About Samar Saleel

Check Also

औरैया: 19 नये कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद संख्या हुई 533

औरैया। जनपद में एक स्वास्थ्य कर्मी समेत 19 नये कोरोना पाॅजीटिव मिलने से जिले में ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *