UP में निवेश का माहौल

उत्तर प्रदेश। योगी सरकार तीन इनवेस्टर्स समिट का सफ़लतापूर्वक आयोजन कर चुकी है. इतना ही नहीं लाखों करोड़ रुपये के निवेश प्रस्तावों का शुभारंभ भी हुआ है. प्रथम समिट 2018 में दूसरी 2019 और तीसरी जून 2022 को आयोजित हुई थी. इस तीसरी समिट में पचासी हजार करोड़ रुपये से अधिक की योजनाओं का शुभारंभ प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी ने पिछले महिने किया था.

यह उपलब्धि योगी सरकार के दूसरे कार्यकाल के सौ में हासिल हुई थी. पहली और दूसरी ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनियों में राज्य सरकार द्वारा इन्वेस्टमेंट के लिए सम्मिलित रूप से सवा लाख करोड़

रुपयों से आधी के प्रस्ताव मिले थे.इनमें करीब एक लाख करोड़ रुपये की योजनाओं का शुभारंभ हुआ.राज्यपाल आनन्दी बेन पटेल ने एक कार्यक्रम में कहा कि प्रदेश में निवेश की आदर्श स्थितियों के सृजन के लिए राज्य सरकार द्वारा अनेक नीतियों का निर्धारण किया गया है। प्रदेश में विकास को गतिशीलता प्रदान करने की संभावनाएं हैं. उद्यमी समाज इनका लाभ लेकर उत्तर प्रदेश को देश का अग्रणी राज्य बनाने में सहयोग करें, ताकि यह प्रदेश आर्थिक रूप से समृद्ध हो सके।

आनंदीबेन पटेल ने राजभवन से ऑनलाइन जुड़कर मथुरा में आयोजित अंतर्राष्ट्रीय वैश्य महासम्मेलन को सम्बोधित किया. कहा कि वैश्य समाज ने अपने सेवा कार्य में कभी भी धर्म या जाति को आधार नहीं बनाया है और इन सब बातों से ऊपर उठकर अपनी सेवा समाज के हर वर्ग को प्रदान की है।

रिपोर्ट-डॉ दिलीप अग्निहोत्री

About reporter

Check Also

सीएम योगी ने वीरता पुरस्कार विजेताओं और वीर नारियों को किया सम्मानित

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें लखनऊ। आजादी का अमृत महोत्सव के विभिन्न पहलुओं ...