Breaking News

लखनऊ विश्वविद्यालय ने कुलपति प्रो राय के नेतृत्व में मासिक धर्म मेगा-जागरूकता अभियान कियाशुरू

लखनऊ : माननीय कुलाधिपति आनंदीबेन पटेल की हमेशा से छात्राओं का स्वास्थ्य एक प्रमुख चिंता का विषय रहा है और उनके कुशल मार्गदर्शन में राज्य में महत्वपूर्ण कार्य किया गया है। इससे प्रेरित होकर, लखनऊ विश्वविद्यालय ने प्रोफेसर आलोक कुमार राय के नेतृत्व में मासिक धर्म संबंधी जरूरी उत्पादों तक पहुंच, मासिक धर्म के बारे में शिक्षा और समय अनुकूल स्वच्छता सुविधाओं के बारे में चुनौतियों से संबंधित एक मेगा-जागरूकता अभियान शुरू किया।

लखनऊ विश्वविद्यालय ने कुलपति प्रो राय के नेतृत्व में मासिक धर्म मेगा-जागरूकता अभियान कियाशुरू

इस कार्यक्रम का पहला चरण में 41 स्कूल और कॉलेज शामिल होंगे। इसकी शुरुआत 27 मई को हुई और इस कार्यक्रम के दूसरे दिन यानी 28 मई को, जिसे अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मासिक धर्म स्वच्छता दिवस के रूप में भी मनाया जाता है, लखनऊ विश्वविद्यालय के माननीय कुलपति अपनी टीम के साथ इन 4 कॉलेजों – राजकीय हाई स्कूल , खंडसारा; राजकीय हाई स्कूल, सस्पन: राजकीय हाई स्कूल, धारी; मॉल क्षेत्र के वीरांगना उदा देवी राजकीय बालिका इंटर कॉलेज की छात्राओं के साथ मासिक धर्म से संबंधित वर्जना को तोड़ने के प्रयास में बातचीत की।मासिक धर्म स्वास्थ्य और स्वच्छता को बढ़ावा देने के लिए, प्रो आलोक कुमार राय ने इन कॉलेजों को सेनेटरी नैपकिन वेंडिंग मशीन और इन्सिनरेटर वितरित किए और स्वस्थ भारत का आह्वान किया।

कुलपति प्रो आलोक कुमार राय ने छात्रों से संवाद में कहा कि वह चाहते हैं कि ये छात्र उच्च शिक्षा प्राप्त करें और इस दिशा में उनकी हर मदद की जाएगी। उन्होंने इन कॉलेजों के लिए विश्वविद्यालय द्वारा स्वास्थ्य शिविर और आहार परामर्श शिविरों को आयोजित करने की भी घोषणा की। छात्रों के साथ बातचीत करते हुए, उन्होंने यह भी उल्लेख किया कि यदि प्रत्येक महिला छात्र वास्तव में इन जागरूकता कार्यक्रमों से जुड़ती है और इसका लाभ उठाती है, तो उनके शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य बेहतर होगा ।

एनएसएस समन्वयक प्रो रूपेश कुमार की देखरेख में एनएसएस स्वयंसेवकों द्वारा “चुप्पी तोडो” नामक एक नुक्कड़ नाटक का प्रदर्शन किया गया, और इसने छात्रों में आत्मविश्वास की भावना को जगाने की दिशा में काम किया। इस कार्यक्रम की नोडल अधिकारी अधिष्ठाता छात्र कल्याण, प्रोफेसर पूनम टंडन ने कहा कि शिक्षा के साथ-साथ बालिकाओं का स्वास्थ्य लखनऊ विश्वविद्यालय के कुलपति की सर्वोच्च प्राथमिकता सूची में आता है और विश्वविद्यालय उन्हें शिक्षा और स्वास्थ्य में सुधार के लिए हर संभव मदद करेगा । लखनऊ विश्वविद्यालय के मुख्य कुलानुशासक प्रो राकेश द्विवेदी ने छात्रों से बातचीत की और उन्हें सामाजिक वर्जनाओं पर चुप्पी तोड़ने के लिए कहा क्योंकि यह अच्छे मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य की पहली बुनियादी आवश्यकता है।

मॉल क्षेत्र के वीरांगना उदा देवी राजकीय बालिका इंटर कॉलेज में आयोजित इस समारोह में इन चार स्कूलों/कॉलेजों के 300 से अधिक छात्रों ने अपने प्रधानाचार्यों और शिक्षकों के साथ भाग लिया. इस 5 दिनों के कार्यक्रम में लखनऊ विश्वविद्यालय ग्रामीण क्षेत्र के 1500 से अधिक छात्रों के साथ बातचीत करने की योजना बना रहा है। कार्यक्रम में लखनऊ विश्वविद्यालय के प्रोफेसर संगीत साहू, डॉ अलका मिश्रा और ज्योत्सना सिंह भी मौजूद थे।

About reporter

Check Also

पेरिस के ज्यूरिख एयरपोर्ट की तरह बनेगा जेवर, रनवे का काम हुआ शुरू

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें Published by- @MrAnshulGaurav Tuesday, June 28, 2022 उत्तर प्रदेश। ...