Breaking News

पोषण मटका स्थापित कर शुरू हुई पोषण पंचायत

औरैया। एक सितंबर से चल रहे राष्ट्रीय पोषण माह को इस बार ‘महिला और स्वास्थ्य, बच्चा और शिक्षा पर मुख्य रूप से केंद्रित किया रहा है। पोषण माह के तहत गुरुवार को जनपद के हर ब्लॉक में पोषण पंचायत का आयोजन किया गया। इसमें आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने पोषण अभियान को लेकर चर्चा की। ग्राम पंचायत औतों के ग्राम सचिवालय में आंगनबाड़ी कार्यकर्ता सुमन चतुर्वेदी ने पोषण पंचायत का आयोजन किया। सर्वप्रथम ग्राम प्रधान रजत मिश्रा ने पोषण मटका को स्थापित करके पोषण पंचायत का शुभारंभ किया।

आंगनवाड़ी सुमन चतुर्वेदी ने बताया की पोषण मटका बनाने का उद्देश्य पोषण के लिए जागरूकता फैलाना है। उन्होंने बताया की पोषण मटका को तीन लाल, पीला और हरा रंग से रंगा गया। और ऊपर सहजन लगाया गया। उन्होंने लाल रंग को अतिकुपोषित , पीले को कुपोषित और हरे को सामान्य बताते हुुए कहा की किसी भी दशा में किसी बच्चे को कुपोषण का शिकार नहीं होना है। सही पोषण होगा तभी देश रोशन होगा। इस वर्ष हम पांचवां पोषण माह मना रहे है । बच्चों को जन्म से 6 माह तक केवल स्तनपान करवाए। 6माह के पश्चात ऊपरी आहार देना शुरू करे। गर्भवती माता को सम्पूर्ण तिरंगा भोजन करना चाहिए । सहजन जरूर इस्तेमाल करे।

पोषण पंचायत में कुपोषित महिलाओं, बच्चों के लिये पुष्टाहार विभाग द्वारा चलाई जा रही कल्याणकारी योजना एवं पोषण अभियान के अन्तर्गत चलायी जा रही योजनाओं की विस्तृत जानकारी एवं लाभ दिलाया गया। सैम एवं मैम श्रेणी में रह चुके बच्चों के अभिभावक उपस्थित हुए। पोषण वाटिका, पौधा रोपण एवं कुपोषण के लिये योग एवं आयुष के महत्व से संबंधित महत्वपूर्ण जानकारी दी। स्थानीय खाद्य पदार्थों एवं पोष्टिक भोजन की जनजागरूकता तथा आवश्यकतानुसार अनुपूरक पुष्टाहार आदि का वितरण भी किया गया।

प्रभारी जिला कार्यक्रम अधिकारी वीरेंद्र सिंह ने बताया- पूरे माह चार बेसिक थीम – महिला एवं स्वास्थ्य, बच्चा शिक्षा-पोषण भी पढ़ाई भी, लैंगिंक संवेदनशीलता, जल संरक्षण व प्रबंधन और आदिवासी क्षेत्र में महिलाओं व बच्चों के लिए पारंपरिक खानपान आदि पर काम किया जाएगा। पोषण पंचायत की सदस्यों द्वारा कम वजन के शिशु, अति कुपोषित, कुपोषित और गम्भीर रूप से कम वजन वाले बच्चों के पोषण श्रेणी के स्तर में बदलाव की जानकारी ली जाएगी।30 सिंतबर तक चलने वाले पोषण माह के तहत कुपोषण से लड़ने के लिए ग्राम पंचायत, ग्राम विकास, शिक्षा और स्वास्थ्य विभाग का सहयोग लिया जाएगा।

उन्होंने बताया, इस माह चलने वाले पोषण माह में गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं, छह साल से कम उम्र के बच्चों और किशोरियों पर विशेष ध्यान दिया जाएगा। साथ ही उन्हें संवेदीकरण अभियान, आउटरीच कार्यक्रमों और शिविरों के माध्यम से पोषण के महत्व के बारे में जागरूक किया जाएगा। संबंधित जिला पंचायती राज अधिकारियों, सीडीपीओ, स्थानीय अधिकारियों द्वारा पंचायत स्तर पर जागरूकता गतिविधियां संचालित की जाएंगी।

इस बार आंगनबाड़ी केंद्रों में बच्चों को पढ़ाने के लिए देशी व स्थानीय खिलौनों के प्रयोग को बढ़ावा देने के लिए राष्ट्रीय स्तर की खिलौना निर्माण कार्यशाला भी आयोजित की जाएगी। कार्यक्रम में पंचायत सहायक आदर्श तिवारी आगनवाड़ी कार्यकत्री रश्मि सहायिका माधुरी सुनीता और आशीष शिवन विजय सिंह धर्मेंद्र ने प्रतिभाग किया।

रिपोर्ट-शिव प्रताप सिंह सेंगर 

About Samar Saleel

Check Also

द्वादश ज्योर्तिलिंग मंदिर में महाअष्टमी पर गौ और कन्या भोग आयोजित किया गया

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें राधा कृष्ण और दुर्गा जी को किया गया ...