Breaking News

जिलाधिकारी की अध्यक्षता में हुआ शासन की शीर्ष प्राथमिकता के 37 बिन्दुओं की समीक्षा बैठक का आयोजन

औरैया। जिलाधिकारी पी सी श्रीवास्तव की अध्यक्षता में गुरुवार ककोर स्थित कलेक्ट्रेट सभागार में शासन की शीर्ष प्राथमिकता के 37 बिन्दुओं की समीक्षा बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में सर्वप्रथम अमृत महोत्सव को लेकर जिलाधिकारी महोदय ने “हर घर तिरंगा” कार्यक्रम के लिए सभी विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिया कि सभी सार्वजनिक, निजी स्थानों, कार्यालयों, शैक्षणिक संगठनों व संस्थानों, ग्राम पंचायतों व दुकानों साहित कई स्थलों पर तिरंगा फहराया जाएगा। इसके लिए सभी विभागाध्यक्ष को लक्ष्य प्रदान किया जाएगा।

इसके पश्चात बैठक में समस्त विभागों से जुड़ी योजनाओं की प्रगति के बारे में समीक्षा करते हुए स्वास्थ्य विभाग से जुड़ी आयुष्मान भारत, परिवार नियोजन, राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य, मातृत्व स्वास्थ्य, एनएचएम जैसी अनेक योजनाओं पर अब तक हुये कार्यों की प्रगति पर विस्तार से चर्चा की तथा मानक में स्थिति ठीक किए जाने पर आवश्यक दिशा निर्देश दिये। उन्होंने समस्त सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों की साफ-सफाई सहित समस्त सुविधाएं सुनिश्चित कराने हेतु निर्देश दिए।

बैठक में ऑपरेशन कायाकल्प, राशन कार्ड, आयुष्मान भारत योजना में सुधार, पेयजल की व्यवस्था, प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण, प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी, राष्ट्रीय आजीविका मिशन, मुख्यमंत्री आवास योजना, राष्ट्रीय ग्रामीण पेयजल मिशन, खाद्य रसद, राज्य औद्योगिक मिशन, शादी अनुदान, पेंशन, कन्या सुमंगला योजना, आंगनबाड़ियों का कार्य, अध्यापकों की उपस्थिति, पठन-पाठन में सुधार, राष्ट्रीय ग्राम स्वराज अभियान, सामुदायिक शौचालय, पंचायतभवन, अपशिष्ट प्रबन्धन, स्वच्छ भारत मिशन, मत्स्य पालन, उद्योगबन्धु, श्रमिक पंजीयन, सहकारी बैंक समिति, पोषाहार का वितरण, कौशल विकास मिशन, आईजीआरएस के प्रकरण, आदि बिंदुओं पर विस्तार पूर्वक चर्चा की गई। जिलाधिकारी ने संबंधित को नहरों में टेल तक पानी पहुंचाने में प्रगति बढ़ाये जाने के निर्देश दिये, उन्होंने कहा समस्त टेलों तक पानी अवश्य पहुंचना चाहिए।

विद्युत विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये गये कि स्थानीय स्तर पर विद्युत कनेक्शन एवं अन्य कार्यों को प्राथमिकता के आधार पर कार्यवाही सुनिश्चित करें, विभिन्न विभागों की विद्युत बकाया धनराशि की वसूली की कार्यवाही की जाये। उन्होंने कहा किसी भी विभाग का बिजली का बिल बकाया न रहे। जिलाधिकारी ने यह भी निर्देश दिये कि सम्बन्धित विभाग यह सुनिश्चित कर लें कि जिन विभागों का विद्युत बकाया बिल लम्बित है उसे तत्काल जमा कराया जाये।

बैठक में प्रधान मंत्री किसान सम्मान निधि योजना एवं प्रधान मंत्री फसल बीमा योजना के सम्बन्ध में किसानों को समय से क्लेम दिलाये जाने हेतु कृषि विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये। मुख्य पशुचिकित्साधिकारी को निर्देश दिये गये कि जितने भी गौआश्रय स्थल हैं उनमें सभी गौवंशों की इयर टैगिंग करा ली जाये, साथ ही यह भी निर्देश दिए कि मवेशियों को भूसा, चारा, पानी आदि की किसी भी प्रकार की समस्या नहीं होनी चाहिए, सत्यापन कराकर जल्द से जल्द रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिये।

उन्होंने कहा पशुओं के लिए पानी, शेड आदि व्यवस्थित करा लिया जाए। निराश्रित गोवंश योजना के तहत सम्पूर्ण गोवंशों का टैगिंग तथा जानवरों की सुपुर्दगी के बारे में चर्चा की गयी। साथ ही मुख्य पशुचिकित्साधिकारी को कार्यों में प्रगति लाने के निर्देश दिये, निराश्रित गोवंश को संरक्षित करने हेतु टीकाकरण आदि की व्यवस्था के निर्देश दिये गये। उन्होंने कहा एक भी पशु आवारा नहीं घूमना चाहिए सभी को गौ संरक्षण केंद्रों में संरक्षित किया जाए।

आपरेशन कायाकल्प योजना के तहत ग्रामीण एवं नगरीय क्षेत्रों में आच्छादित योजनाओं को तत्काल पूरा करने, स्वच्छ भारत मिशन, राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन, महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण योजना, प्रधान मंत्री ग्राम सड़क योजना, मुख्य मंत्री आवास योजना द्वारा चलायी जा रही विभिन्न योजनाओं की प्रगति, आदि बिन्दुओं पर चर्चा की गयी। राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना के तहत आधार सीडिंग एवं खाद्यान्न वितरण के बारे में जानकारी ली गयी। समाज कल्याण, अल्पसंख्यक, पिछड़ावर्ग, प्रोबेशन विभाग द्वारा चलायी जा रही छात्रवृति, पेंशन, कन्या सुमंगला योजना आदि के बारे में विस्तार से जानकारी हासिल कर सम्बन्धित अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश निर्गत किये।

जिलाधिकारी ने समस्त विभागाध्यक्षों को निर्देशित करते हुये कहा कि अपनी-अपनी विभागीय योजनाओं के सम्बन्ध में स्टाफ के साथ समीक्षा कर समयान्तर्गत कार्य कराना सुनिश्चित करें। उन्होंने समस्त विभागाध्यक्ष को योजनाओं में प्रगति लाने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि जिन योजनाओं की वजह से जनपद की रैंकिंग खराब हो रही है उनमें अपने स्टाफ के साथ समीक्षा कर कार्यों का सम्पादन तत्परता के साथ ए0 ग्रेड में लाने का प्रयास किया जाये।

साथ ही उन्होंने कहा कि सभी विभागीय अधिकारी प्रोग्रेस रिपोर्ट को स्पष्ट विवरण के साथ समीक्षा बैठक में आया करें, अधूरी रिपोर्ट पर सख्त कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।
बैठक में अपर जिलाधिकारी न्यायिक अब्दुल बासित, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ अर्चना श्रीवास्तव, परियोजना निदेशक हरेंद्र सिंह, वनाधिकारी वी के सिंह, जिला विकास अधिकारी करुणापति मिश्र, जिला अर्थ एवं संख्या अधिकारी बब्बन प्रसाद मौर्य सहित समस्त जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित रहे।

रिपोर्ट-शिव प्रताप सिंह सेंगर

About reporter

Check Also

“…और दादा डॉक्टर की सलाह और दवाएं मिली या नहीं”- डिप्टी सीएम 

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें Published by- @MrAnshulGaurav Sunday, June 26, 2022 लखनऊ। दादा ...