Breaking News

बीएसएनवी पीजी कालेज में “नशा मुक्ति अभियान” का आयोजन

लखनऊ। बीएसएनवी पीजी कालेज(केकेवी) की राष्ट्रीय सेवा योजना द्वारा बाल दिवस के अवसर पर “नशा मुक्ति अभियान” के अंतर्गत एकदिवसीय शिविर का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में भारत सरकार में केंद्रीय राज्य मंत्री कौशल किशोर सम्मिलित हुए। कार्यक्रम का शुभारंभ महाविद्यालय के सभागार में सरस्वती वंदना के साथ हुआ तदुपरांत मुख्य अतिथि एवं अन्य अतिथियों का स्वागत किया गया।

कार्यक्रम अधिकारी डॉ मंजुल त्रिवेदी ने कार्यक्रम की रूपरेखा को बताते हुए कहा कि महाविद्यालय की राष्ट्रीय सेवा योजना द्वारा समय-समय पर विभिन्न समाजोपयोगी जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं जिस अनुक्रम में आज “नशा मुक्ति अभियान” के संदर्भ में जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया है। डॉ मंजुल ने कहा कि नशा एक ऐसी बुराई है जो न केवल हमारे स्वास्थ्य को नष्ट करती है बल्कि इसके अन्य दुष्परिणाम घरेलू हिंसा, सड़क दुर्घटना, सामाजिक हिंसा आदि के रूप में भी हमे दिखाई पड़ते हैं।

स्वागत भाषण में महाविद्यालय के प्राचार्य प्रो. रमेशधर द्विवेदी ने मंत्री का स्वागत करते हुए बताया कि “नशा मुक्ति” अभियान के अंतर्गत कौशल किशोर विगत दो वर्षों से विभिन्न जागरूकता कार्यक्रम कर रहे हैं। इसके साथ ही उन्होंने विद्यार्थियों को नशे की लत से दूर रहने का सुझाव देते हुए समाज को भी इस संदर्भ में जागरूक करने का आग्रह किया। मुख्य अतिथि कौशल किशोर जी ने अपने संबोधन में बताया कि नशा किसी भी सभ्य समाज का सबसे बड़ा दुश्मन है, जिसने आज लाखों युवाओं को अपनी चपेट में लेकर उनके भविष्य को बर्बाद करने का कार्य किया है।

इसके साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि उनका अपना ही पुत्र नशे की लत के कारण असमय इस दुनिया से चला गया जिसके बाद उन्होंने यह संकल्प लिया है कि अब वो “नशा मुक्त समाज आंदोलन अभियान कौशल का” चलाकर इस बुराई के खिलाफ समाज को एकजुट करने की कोशिश कर रहे हैं। नशे की लत के कारण होने वाली सामाजिक-आर्थिक व शारीरिक त्रासदी से भी उन्होंने सभी को अवगत कराया। इस दौरान उन्होंने बताया कि नशा हमारी संस्कृति का हिस्सा कभी नही रहा है, अंग्रेजों, फ्रांसीसियों और अरब देश के अनेक लोगों ने विभिन्न प्रकार के नशे को भारत लाने का काम किया जिसके कारण देश आज इस बुराई की चपेट में है।

उन्होंने विद्यार्थियों को कहा कि यदि अंग्रेज आज होते तो आप उनके विरुद्ध लड़ रहे होते किन्तु हमारे पूर्वजों के पुरुषार्थ एवं सौभाग्य से हम एक स्वतंत्र राष्ट्र हैं आज आवश्यकता है कि अंग्रेजों द्वारा फैलाई गई इस नशा रूपी बुराई के विरुद्ध #अभियान चलाकर स्वयं और समाज को इससे बचाने का आंदोलन चलायें। इसके साथ ही उन्होंने बताया कि आज के दिन पूरे भारत में लगभग 5 करोड़ नवयुवक एवं नवयुवतियां “नशा मुक्त आंदोलन अभियान कौशल का” से जुड़कर नशे से बचने की शपथ लेंगे जो कि राष्ट्र को इस बुराई के विरुद्ध लड़ाई में सहयोग करेगा।

कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए डॉ. प्रियंका के इससे होने वाले मनोवैज्ञानिक दुष्प्रभावों को विद्यार्थियों के सम्मुख रखा गया। उन्होंने मंत्रीकौशल किशोर का इस अभियान हेतु धन्यवाद ज्ञापित किया गया। इसके साथ ही कार्यक्रम में ठाकुर नेहा सिंह द्वारा सभी विद्यार्थियों को नशे से दूर रहने हेतु संकल्प दिलाया गया। कार्यक्रम के समापन पर धन्यवाद ज्ञापित करते हुए राष्ट्रीय सेवा योजना की कार्यक्रम अधिकारी डॉ प्रमिला पांडेय ने मुख्य अतिथि के साथ साथ अन्य आगंतुकों, शिक्षकों एवं विद्यार्थियों का आभार प्रकट किया।

इन दौरान महाविद्यालय के शिक्षक प्रो. जय शंकर पांडेय, प्रो. अनिल पांडेय, प्रो. डीके गुप्ता,डॉ गोविंद मिश्र, प्रो. अशोक दुबे, डॉ उमेश सिंह, डॉ प्रणव मिश्रा, डॉ अभिषेक उपाध्याय, डॉ स्नेह प्रताप सिंह आदि के साथ साथ एनएसएस एवं एनसीसी के सभी विद्यार्थी उपस्थित रहे।

About Samar Saleel

Check Also

छुप छुप कर मिलने वाले प्रेमी युगल को ग्रामीणों ने पकड़ा, करवाई शादी

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें रायबरेली। आम के बाग में चोरी छिपे मिल ...