Breaking News

जीवन में सार्थक बदलाव हेतु उचित मार्गदर्शन जरूरी : आनंदीबेन पटेल

• राज्यपाल ने लखनऊ विश्वविद्यालय एवं स्वयं सेवी संस्था ‘उम्मीद’ के साथ की बैठक

• भिक्षावृत्ति में संलिप्त बच्चों को शिक्षा से जोड़ें

• भिक्षावृति से विमुक्ति व शिक्षित करने के कार्य को विश्वविद्यालय अपने बेस्ट प्रैक्टिसेज से जोड़ें

लखनऊ। राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने आज राजभवन में लखनऊ विश्वविद्यालय एवं सामाजिक कार्यों में सक्रिय स्वयं सेवी संस्था ‘उम्मीद’ के पदाधिकारियों के साथ बैठक की।
राज्यपाल ने स्वयं सेवी संस्था उम्मीद के साथ विश्वविद्यालय को आपसी समन्वय स्थापित करते हुए विश्वविद्यालय एवं अधीनस्थ महाविद्यालयों के समीपस्थ चौराहों पर भिक्षावृत्ति के कार्य मे संलिप्त बच्चों को चिन्हित कर उन्हें भिक्षावृत्ति से विमुक्त कर शिक्षा की ओर उन्मुख करने को कहा। उन्होंने कहा कि राजभवन के इर्द-गिर्द भी यदि इस प्रकार के चौराहे हैं तो उन बच्चों में शिक्षा के प्रति रूचि पैदा कर उन्हें शिक्षित करने का सार्थक प्रयास करें।

👉विपक्ष का गठबंधन एक से एक बढ़कर घोटालेबाजों का है समूह : डा दिनेश शर्मा

राज्यपाल ने कहा कि विश्वविद्यालय द्वारा भिक्षावृत्ति में संलिप्त बच्चों को अपनाकर ना सिर्फ उन्हें शिक्षा से जोड़ा जाए, बल्कि उस क्षेत्र को भिक्षामुक्त जोन बनाने का भी प्रयास होना चाहिए। इस कार्य को विश्वविद्यालय अपने बेस्ट प्रैक्टिसेज से जोड़ें। उन्होंने कहा कि इस कार्य हेतु हमारे दिल मे संवेदनशीलता और गरीबों के प्रति प्रेम होना चाहिए। हमें गरीबी मिटाने का प्रयास करना चाहिए। उन्होंने कहा कि समाज के ऐसे बेघर लोग जिनका कोई घर नहीं है उनके प्रवास की व्यवस्था करें।

जीवन में सार्थक बदलाव हेतु उचित मार्गदर्शन जरूरी : आनंदीबेन पटेल

राज्यपाल ने कहा कि भिक्षावृत्ति में संलग्न बच्चों व उनके माता-पिता में एक भरोसा उत्पन्न किया जाना चाहिए कि हम उनके हित में कार्य कर रहे हैं। उन्हें रुचिकर गतिविधियों यथा-विभिन्न जगहों पर भ्रमण कराते हुए ज्ञान अर्जन, के माध्यम से उनमें शिक्षा के प्रति रुचि पैदा करें। उन्होंने कहा कि किसी के जीवन में सार्थक बदलाव लाने हेतु उनका उचित मार्गदर्शन जरूरी है।

👉विश्व हरकरघा दिवस : हथकरघा उद्योग को सशक्त और दुनियाभर में हैंडलूम की पहचान बनाना है मकसद

उन्होंने कहा कि बच्चों में दायित्वबोध भी पैदा करें। उनके अंदर छिपी प्रतिभा को निखारा जाए। इन्हें राज्य और केंद्र सरकार की योजनाओं से भी लाभान्वित किया जाए। उन्होंने कहा कि हमारा प्रयास होना चाहिए कि इन बच्चों व उनके परिजनों में यह विश्वास उत्पन्न करें कि हम उनके साथ हैं तथा उनके हित में कार्य कर रहे हैं। इस अवसर पर अपर मुख्य सचिव राज्यपाल डॉ सुधीर महादेव बोबडे, विशेष कार्याधिकारी शिक्षा पंकज जॉनी, कुलपति लखनऊ विश्वविद्यालय प्रोफेसर आलोक कुमार राय आदि उपस्थित थे।

About Samar Saleel

Check Also

हम नक्सलवाद के सामने घुटने नहीं टेकते, नेस्तनाबूद कर देते हैं- योगी आदित्यनाथ

• योगी आदित्यनाथ ने कोरबा में जनसभा को किया संबोधित • कहा- कांग्रेस का नक्सलवाद ...