लोक निर्माण मंत्री जितिन प्रसाद ने की विभागीय समीक्षा बैठक, विभागीय अधिकारियों को निर्माण कार्य में तेजी लाए जाने के निर्देश

लखनऊ। उत्तर प्रदेश लोक निर्माण मंत्री जितिन प्रसाद की अध्यक्षता में आज यहां लोक निर्माण विभाग मुख्यालय स्थित तथागत सभागार में विभागीय समीक्षा बैठक आयोजित की गई। लोक निर्माण मंत्री ने समीक्षा बैठक में विभागीय अधिकारियों को सड़क निर्माण कार्य में कार्य में तेजी लाए जाने के निर्देश दिया।

जितिन प्रसाद ने बैठक में विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिया कि कार्ययोजना को जल्द से जल्द अंतिम रूप देकर निर्माण कार्य प्रारंभ कराएं जाएं। समीक्षा बैठक में 50 करोड़ रुपए से अधिक की लागत के कार्यों को ई०पी०सी० पद्धति से कराए जाने के संबंध में व्यापक चर्चा की गई, ईपीसी पद्धति से कार्यों को कराए जाने से कार्य की लागत में बढ़ोतरी एवं देर से कार्य पूर्ण होने की समस्या से निजात पाई जा सकेगी।

समीक्षा बैठक में सड़क निर्माण कार्य समाप्त होने के अगले 05 वर्षों तक भुगतान आधारित अनुरक्षण की व्यवस्था की नीति बनाए जाने तथा (आउटपुट परफार्मेन्स बेस्ड मेन्टीनेन्स कान्ट्रैक्ट) पूर्व में बनी सड़कों को भी 05 साल तक मेंटेनेंस करने के लिए नीति पर विचार विमर्श किया गया, इसके लिए प्रारंभ में पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर प्रदेश के 18 ब्लॉकों का चयन किए जाने पर विचार विमर्श किया गया। इसके साथ ही बैठक में भूमि अधिग्रहण, पेट्रोल पम्प की एन०ओ०सी० के नियम को और अधिक व्यावहारिक बनाए जाने के संबंध में भी चर्चा की गई।

समीक्षा बैठक में राज्य मंत्री लोक निर्माण विभाग बृजेश सिंह, प्रमुख अभियंता (विकास) एवं विभागाध्यक्ष लोक निर्माण विभाग मनोज कुमार गुप्ता, प्रमुख अभियंता परिकल्प एवं नियोजन राकेश सक्सेना, प्रमुख अभियंता ग्रामीण सड़क एस पी सिंघल, मुख्य अभियंता संजय श्रीवास्तव, एमडी उत्तर प्रदेश निर्माण निगम, एमडी उत्तर प्रदेश सेतु निगम सहित अन्य विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

About reporter

Check Also

सीएम योगी ने वीरता पुरस्कार विजेताओं और वीर नारियों को किया सम्मानित

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें लखनऊ। आजादी का अमृत महोत्सव के विभिन्न पहलुओं ...