Breaking News

नियमित बैठकें, निरंतर बातचीत हमारी रणनीतिक साझेदारी को आगे ले जाने में मददगार

केप टाउन में ब्रिक्स देशों के विदेश मंत्रियों की बैठक को संबोधित किया गया, जहां विदेश मंत्री एस जयशंकर ने केप टाउन में फ्रेंड्स ऑफ ब्रिक्स विदेश मंत्रियों की बैठक को संबोधित किया।

👉यूपी में सफर होगा आसान, इन नौ शहरों के बीच चलेंगी 40 एसी बसें

विदेश मंत्री ने कहा कि ब्रिक्स अब एक ‘विकल्प’ नहीं है, यह वैश्विक परिदृश्य की एक स्थापित विशेषता है। सुधार का संदेश जो ब्रिक्स का प्रतीक है, बहुपक्षवाद की दुनिया में व्याप्त होना चाहिए। ब्रिक्स के मित्र यूएनएससी सुधार का पुरजोर समर्थन करते हैं।

फ्रेंड्स ऑफ ब्रिक्स

‘फ्रेंड्स ऑफ ब्रिक्स’ सभा के मौके पर विदेश मंत्री जयशंकर ने शुक्रवार को अपने संयुक्त अरब अमीरात के समकक्ष अब्दुल्ला बिन जायद अल नाहयान से मुलाकात की। जयशंकर ने कहा फ्रेंड्स ऑफ ब्रिक्स के मौके पर संयुक्त अरब अमीरात के विदेश मंत्री अब्दुल्ला बिन जायद से मिलकर खुशी हुई।

👉ओडिशा ट्रेन हादसे के बाद कई ट्रेनें हुईं कैंसल, फटाफट यात्री पढ़े पूरी खबर

हमारी नियमित बैठकें और निरंतर बातचीत हमारी रणनीतिक साझेदारी को आगे ले जाने में मददगार हैं। वैश्विक स्तर पर उनकी अंतर्दृष्टि और दृष्टिकोण से हमेशा लाभान्वित होते हैं।
ब्रिक्स, जिसे ब्राजिल, रूस, इंडिया, चीन और दक्षिण अफ्रीका के प्रतिष्ठित निर्माण क्षेत्रों के संगठन के रूप में जाना जाता है, एक अंतरराष्ट्रीय संगठन है।

यह विभिन्न देशों के बीच आर्थिक सहयोग, वित्तीय बाजारों में सहयोग, विकास पर ध्यान केंद्रित करने, और द्विपक्षीय व्यापार और निवेश में सहयोग प्रदान करने के उद्देश्य से स्थापित किया गया था।

रिपोर्ट: शाश्वत तिवारी

About Samar Saleel

Check Also

फिर चर्चा में पीएम मोदी और मेलोनी की सेल्फी, जी-7 समिट से इतर खींची तस्वीर

13 से 15 जून तक इटली में जी-7 शिखर सम्मेलन का आयोजन किया गया। शुक्रवार ...