Breaking News

विधवा महिलाओ और दिव्यांगों को जोड़कर आत्मनिर्भर बनाने का लिया संकल्प

दिव्यांग समूह से सत्यप्रकाश और होप नाम की सामाजिक संस्था असवारी गाँव, राजातालाब स्तिथ एक ट्रेनिंग सेंटर में करीब 50 महिलाओ से भी अधिक की संख्या में उपस्थित रही जो…

वाराणसी। ब्राह्मराष्ट्र एकम अपने सनातन धर्म और संस्कृति की पहचान पूरे विश्व में प्रचारित और प्रसारित करने की दिशा में तेजी से अपने कदम बढ़ा रही है। उसी क्रम में एक नया प्रकल्प के रूप में ‘श्री सेवा प्रकल्प’ शहरी और ग्रामीण आँचलो में आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग की विधवा महिलाओ और दिव्यांगों को स्वयं सहायता समूह के माध्यम से जोड़कर उन्हें आत्मनिर्भर बनाने का भी संकल्प लिया है।

ब्राह्मराष्ट्र एकम ने ‘श्री सेवा प्रकल्प’ नाम से बनाया महिलाओ हेतु आत्मनिर्भर प्रकल्प

दिव्यांग समूह से सत्यप्रकाश और होप नाम की सामाजिक संस्था असवारी गाँव, राजातालाब स्तिथ एक ट्रेनिंग सेंटर में करीब 50 महिलाओ से भी अधिक की संख्या में उपस्थित रही जो की अभी वर्तमान में होप संस्था से जुड़कर पुराने कपड़ो से झोला और सजावट के उत्पाद बना रही है। होप संस्था के प्रमुख अजितेश श्रीवास्तव, प्रियंका मिश्रा और सत्यप्रकाश ने सचिन मिश्र को बतौर मुख्य अतिथि के रूप में और ‘श्री सेवा प्रकल्प’ की प्रमुख प्रिया मिश्रा को विशिष्ट अतिथि के रूप में आमंत्रित कर उन महिलाओ को सशक्तिकरण के लिए एक कार्यशाला आयोजित की।

सचिन मिश्र ने अपने व्याख्यान में बताया की महिलाओ के कई रूप होते है और विपरीत परिस्थितियों में उनसे अच्छा कार्य करने की शैली दुनिया में किसी के पास नहीं है। उन्होंने कहा कि ये भारत जैसा विशाल देश है, यहाँ पर रानी लक्ष्मी बाई, रानी पद्मावती, माता जीजाबाई, आदि की विशाल इतिहासो वाली जन्मभूमि है और सदियों से महिलाये सबल रही है। श्री मिश्र ने बताया कि उनके उत्पादों को किस प्रकार से मार्केटिंग की जाये और उसकी विशेष रणनीति से अवगत कराया ताकि उन्हें उनके बनाये गए उत्पादो का उचित मूल्य प्राप्त हो सके।

50 महिलाएंहोप संस्था से जुड़कर सजावट के उत्पाद बना रही हैं

तत्पश्चात प्रिया मिश्रा ने उनके हुनरों की तारीफ कर उनलोगो को प्रेरित किया और भविष्य में किस प्रकार से आधुनिक चीज़ो का तकनिकी से अत्यधिक निर्माण करें उसकी सहायता भी करने का आश्वासन दिया। उक्त अवसर पर मिश्रा जी सपत्निक गुप्त धनराशि सहायतार्थ के रूप में होप संस्था को समर्पित किया। सत्यप्रकाश जी ने कार्यक्रम के समापन में सभी को धन्यवाद ज्ञापित कर सबका आभार व्यक्त किया।

रिपोर्टर – जमील अख्तर

About reporter

Check Also

संत कबीरदास जयंती समारोह पर राष्ट्रीय शोध संगोष्ठी आयोजित

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें Published by- @MrAnshulGaurav Wednesday, May 25, 2022 लखनऊ। राष्ट्रीय ...