Breaking News

केजरीवाल के आवास पर बैठकों का दौर, पत्नी सुनीता से मिलने पहुंच रहे आप विधायक

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आवास पर आम आदमी पार्टी के विधायकों की बैठकों का दौर चल रहा है। आप विधायक सुनीता केजरीवाल से मिलने आ रहे हैं। ऐसे में आम आदमी पार्टी में कोई बड़ा बदलाव हो सकता है। सौरभ भारद्वाज, कैलाश गहलोत सीएम आवास पर पहुंच चुके हैं।

रामपुर में अखिलेश तो मुरादाबाद में आजम की प्रतिष्ठा दांव पर, पार्टी के भीतर मचा है घमासान

केजरीवाल के आवास पर बैठकों का दौर, पत्नी सुनीता से मिलने पहुंच रहे आप विधायक

पत्नी सुनीता को सीएम बनाना चाहते हैं केजरीवाल

भाजपा ने आरोप लगाया है कि अरविंद केजरीवाल अपनी पत्नी सुनीता केजरीवाल को मुख्यमंत्री बनाना चाहते हैं, इसलिए उन्होंने जानबूझकर आतिशी मार्लेना और सौरभ भारद्वाज का नाम शराब घोटाले में लिया है। पार्टी के अनुसार, यह सुनीता केजरीवाल का राजनीतिक रास्ता साफ करने की कोशिश है।

अरविंद केजरीवाल ने लिया इन दो नेताओं का नाम

दरअसल, आज हुई अदालत की सुनवाई के दौरान प्रवर्तन निदेशालय ने यह दावा किया है कि अरविंद केजरीवाल ने यह माना है कि विजय नायर सीधे तौर पर उन्हें नहीं, बल्कि उनकी पार्टी के दो नेता आतिशी मार्लेना और सौरभ भारद्वाज को रिपोर्ट करता था। ऐसे में यदि यह साबित हो जाता है कि विजय नायर सीधे तौर पर केजरीवाल से नहीं, बल्कि आतिशी मार्लेना और सौरभ भारद्वाज से बातचीत करता था, तो मामलों की जांच इन्हीं दोनों नेताओं की ओर मुड़ जाएगी। इससे अरविंद केजरीवाल को क्लीन चिट भले न मिले, लेकिन आम आदमी पार्टी के इन दो नेताओं से पूछताछ होने की संभावना अवश्य बढ़ जाएगी।

CAA (नागरिकता (संशोधन) अधिनियम 2019) और जोगेन्द्र नाथ मंडल

चूंकि, विजय नायर पर यह आरोप है कि उसने शराब व्यापारी समीर महेंद्रू से अपने एक करीबी के माध्यम से करोड़ों रुपये की लेनदेन की थी, पैसों के लेनदेन का यह मामला आतिशी मार्लेना और सौरभ भारद्वाज तक भी पहुंच सकता है। इससे इन दोनों नेताओं पर भी ईडी का शिकंजा कस सकता है। इस मामले में दिल्ली सरकार के एक और मंत्री कैलाश गहलोत से भी पूछताछ हो चुकी है। यानी इस मामले में एक के बाद एक कई बड़े आप नेताओं के घिरने की संभावना बढ़ती जा रही है।

पूछताछ में ही सामने आए थे बड़े नाम

ध्यान देने वाली बात है कि इस मामले में ज्यादातर आरोपियों के नाम ईडी के द्वारा हुई पूछताछ में ही एजेंसी के सामने आए थे। तत्कालीन उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया से लेकर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल तक का नाम आरोपियों से ईडी की पूछताछ के बाद ही सामने आया था। जानकारों का मानना है कि ईडी की कार्रवाई के इस पैटर्न को देखते हुए अनुमान लगाया जा सकता है कि अब शराब घोटाले में इन दोनों वरिष्ठ मंत्रियों से भी पूछताछ होने की संभावना बन सकती है।

About News Desk (P)

Check Also

सीएमएस अशरफाबाद कैम्पस द्वारा ‘ओपेन डे समारोह’ का भव्य आयोजन

लखनऊ। सिटी मोन्टेसरी स्कूल अशरफाबाद कैम्पस द्वारा विद्यालय प्रांगण में आयोजित ‘ओपेन डे एवं पैरेन्ट्स ओरिएन्टेशन ...