Breaking News

Mandsaur : बच्‍ची से दुष्कर्म के आरोपियों को जीने का हक नहीं-शिवराज चौहान

भोपाल। मध्य प्रदेश के मंदसौर Mandsaur में आठ साल की मासूम बच्‍ची से दुष्‍कर्म और बेरहमी से हत्‍या का प्रयास करने का दर्दनाक मामला सामने आया है। बच्ची से दरिंदगी के बाद जहां आम लोग सड़कों पर उतर कर अपना गुस्सा निकर रहे हैं वही बच्ची की हालत देखकर खुद सीएम का भी गुस्सा फूट फड़ा है।यह मामला दिल्ली के निर्भया कांड आैर जम्मू-कश्मीर के कठुआ कांड से किसी भी मायने में कम नहीं है।

Mandsaur घटना इंसानियत को शर्मसार

इंसानियत को शर्मसार करती इस घटना में दरिंदों ने बच्ची के प्राइवेट पार्ट को भी नुकसान पहुँचाया है । इतना ही नहीं सिर, चेहरे और गर्दन पर धारदार हथियारों से हमले किए गए हैं। उसकी हालत देखकर खुद डाॅक्टर हैरान हो गए हैं।

फास्‍ट ट्रैक कोर्ट में सुनवाई

मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस घटना को लेकर नाराजगी जताते हुए कहा है कि यह मामला बेहद ही दर्दनाक है। इस घटना को अंजाम देने वाले दरिंदे धरती पर बोझ हैं उन्हें जीने का हक बिल्‍कुल भी नहीं है। उन्होंने कहा इस मामलों की सुनवाई फास्‍ट ट्रैक कोर्ट में होनी चाहिए ताकि अपराधियों को जल्द ही फांसी की सजा दी जा सके।

क्या थी घटना

बीते मंगलवार की शाम बच्ची के परिजन उसके स्कूल से लौटने का इंतजार कर रहे थे लेकिन छु्ट्टी के बाद से वह लापता थी। पूरी रात बच्ची को तलाश रहे परिजनों को बुधवार को बच्ची घायलावस्था में मिली थी। इस मामले में इरफान उर्फ भय्यू (20) को बुधवार की शाम गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस के मुताबिक इरफान ने मंदसौर बस स्टैंड के पीछे लक्ष्मण दरवाजे के पास बच्ची से दुष्‍कर्म की घटना को अंजाम दिया। इसके बाद आरोपी इरफान ने धारदार हथियार से बच्ची का गला रेतकर उसकी हत्‍या करने की कोशिश भी की।

About Samar Saleel

Check Also

प्रथम जयंती पर याद किए गए 51 शक्तिपीठ तीर्थ के संस्थापक पंडित रघुराज दीक्षित ‘मंजु’

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें रघुराज दीक्षित के अवदान पर केंद्रित स्मारिका का ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *