Breaking News

सपा-कांग्रेस का सूफड़ा साफ

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के गत विधानसभा चुनाव की तरह नगर निकाय चुनावों में भी भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने जोरदार जीत हासिल की। मेयर की कुल 16 सीटों में से 14 भाजपा के पक्ष में रही हैं जबकि अलीगढ़ और मेरठ की सीट पर बसपा ने कब्जा जमाया है। सपा और कांग्रेस का खाता नहीं खुल सका है। इसके अलावा नगर निगम पार्षदों के 1300 पदों में से अब तक घोषित 1005 के परिणामों में भी बीजेपी 459, सपा 157, बसपा 126 और कांग्रेस 78 सीटें जीत चुकी हैं।
अयोध्या-फैजाबाद:-
अयोध्या-फैजाबाद नगर निगम मेयर पद पर भाजपा प्रत्याशी ऋषिकेश जायसवाल ने अपनी निकटतम प्रतिद्वंद्वी सपा की गुलशन बिंदु को 3601 मतों से पराजित किया। वाराणसी नगर निगम महापौर पद पर भाजपा प्रत्याशी मृदुला ने अपनी निकटतम प्रतिद्वंद्वी कांग्रेस की शालिनी को 78,843 मतों से पराजित किया।
सहारनपुर:-
सहारनपुर नगर निगम मेयर पद पर भाजपा प्रत्याशी संजीव वालिया ने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी बसपा के फजल उर्रहमान को दो हजार मतों से पराजित किया। मुरादाबाद नगर निगम महापौर पद पर बीजेपी प्रत्याशी विनोद अग्रवाल ने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी कांग्रेस के मोहम्मद रिजवान कुरैशी को 21 हजार 635 मतों से पराजित किया।
अलीगढ़:-
अलीगढ़ नगर निगम मेयर पद पर बसपा प्रत्याशी मुहम्मद फुरकान ने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी भाजपा के राजीव कुमार को 10 हजार 11 मतों से पराजित किया। झांसी नगर निगम महापौर पद पर भाजपा प्रत्याशी रामतीर्थ सिंघल ने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी बसपा के बृजेन्द्र कुमार व्यास को 16 हजार 373 मतों से पराजित किया।
फिरोजाबाद:-
फिरोजाबाद नगर निगम महापौर पद पर भाजपा प्रत्याशी नूतन राठौर ने अपनी निकटतम प्रतिद्वंद्वी ऑल इण्डिया मजलिस इत्तेहादुल मुस्लिमीन की मसरूर फातिमा को 42 हजार 396 मतों से पराजित किया। नवगठित मथुरा नगर निगम महापौर पद पर भाजपा प्रत्याशी मुकेश ने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी कांग्रेस के मोहन सिंह को 22 हजार 108 मतों से पराजित किया।
गोरखपुर:-
गोरखपुर नगर निगम महापौर पद पर भाजपा प्रत्याशी सीताराम जायसवाल ने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी सपा के राहुल को 75 हजार 972 मतों से पराजित किया। वर्ष 2012 के नगर निकाय चुनाव में भाजपा ने 12 में से 10 महापौर सीटें जीती थीं। इस बार अयोध्या, फिरोजाबाद, मथुरा तथा सहारनपुर पहली बार नगर निगम के तौर पर चुनाव प्रक्रिया से गुजर रहे हैं।

 

Loading...
Loading...

About Samar Saleel

Check Also

देश में पुनः बटवारे की नींव डालने का किया जा रहा षड़यंत्र: डाॅ. मसूद

लखनऊ। भारतीय नागरिकता अधिनियम 1955 में संसद द्वारा पारित संशोधन भारतीय संविधान की पवित्रता व ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *