Breaking News

लखनऊ जनविकास महासभा ने एलडीए के यूजर चार्ज को बताया जनविरोधी

लखनऊ। लखनऊ विकास प्राधिकरण (एलडीए) द्वारा विकास के नाम पर अपनी कालोनियों में यूजर चार्ज वसूलने के पारित प्रस्ताव को लेकर लखनऊ जनविकास महासभा ने मोर्चा खोल दिया है। महासभा ने इस यूजर चार्ज का विरोध करते हुये कहा है कि प्राधिकरण का काम कालोनियों को पूर्ण विकसित कर नगर निगम को हस्तान्तरित करना है, न कि यूजर चार्ज वसूलना। इस चार्ज को जनविरोधी बताते हुये महासभा के अध्यक्ष एसके बाजेपयी ने यहां जानकीपुरम विस्तार के नागरिकों के साथ हुई बैठक में बताया कि एलडीए अपनी कॉलोनियों को पूर्ण विकसित करने के लिए जिम्मेदार है, इसके लिए वह अपने भूखंड एवं प्लाटों का मूल्यांकन संपूर्ण विकास कार्य की लागत को जोड़कर करता है और कालोनी को पूर्ण रुप से विकसित कर नगर-निगम को स्थानांतरित कर देता है।

एसके बाजपेई ने बताया कि एलडीए के पास घरों से कूड़ा लेने की कोई व्यवस्था नहीं है और न ही प्राधिकरण अपनी कॉलोनियों से संबंधित समस्याओं के निराकरण की कोई ठोस नीति है ऐसे में यूजर चार्ज का निर्णय जनविरोधी है। बैठक में उपस्थित लखनऊ जनविकास महासभा के संस्थापक संयोजक पंकज तिवारी ने एलडीए द्वारा यूजर चार्ज के प्रस्ताव को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कहा कि अपनी कॉलोनियों का पूर्ण विकास करने में असफल है। पंकज तिवारी ने जानकीपुरम विस्तार का जिक्र करते हुए कहा कि जानकीपुरम विस्तार कालोनी योजना के लगभग 20 वर्ष पूर्ण हो चुके हैं और सेक्टर-1 से लेकर सेक्टर 11 तक में एक भी सामुदायिक केंद्र का निर्माण अभी तक नहीं हो सका है ऐसे ही कैसे कई क्षेत्रों में नाली की व्यवस्था पूर्ण नहीं वो पाई और इसी कारण नगर निगम भी एलडीए से इन कॉलोनियों को हस्तांतरित नहीं कर रहा है।

अतः एलडीए पहले अपनी कॉलोनियों को पूर्ण रुप से विकसित करें और फिर कानूनी प्रक्रिया के अनुरुप आगे की कार्रवाई करें, ना कि अनावश्यक रुप से यूजऱ चार्ज के नाम पर बिना कोई विकास कार्य की योजना दिए बगैर जनता को प्रताड़ित करें। बैठक में अजय यादव, शिव कुमार यादव, डॉ. अगम दयाल, शैलेंद्र मिश्रा, डॉक्टरों मिश्रा, दिव्या शुक्ला सहित कई प्रमुख लोग उपस्थित रहे।

About Samar Saleel

Check Also

करीब 20 हजार करोड़ से यूपी में बदलेगी रेल की तस्वीर, नई रेल लाइनों के साथ स्टेशन भी होंगे अपग्रेड

लखनऊ:  उत्तर रेलवे में नई रेलवे लाइनों को बिछाने, सेफ्टी बेहतर करने, रेलवे स्टेशनों के ...