Breaking News

देश के बाल गृहों में हैं 86 हजार अनाथ बच्चे : प्रशांत हरतालकर

  • जागरूकता के अभाव में निःसंतान दम्पति चाहकर भी नहीं ले पाते है गोद
  • दत्तक ग्रहण में सहायता के लिए जिले में जल्द खुलेगा काउंसलिंग सेटर

वाराणसी। स्वनाथ परिषद काशी के तत्वाधान में दत्तक ग्रहण और कानूनी प्रक्रिया विषयक एक दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन फड़नवीस भवन पंचगंगा घाट पर किया गया। कार्यक्रम का उद्घाटन डा सुचिता चतुर्वेदी सदस्य, राज्य बाल संरक्षण आयोग ने दीप प्रज्जवलन कर किया। कार्यक्रम के प्रारम्भ में प्रशान्त हरतालकर ने विषय वस्तु की स्थापना करते हुए बताया कि हमारे देश में 86 हजार से ज्यादा बच्चे बाल गृहों में रह रहे है जब जबकि तीन करोड़ से ज्यादा निःसन्तान दम्पत्ति बच्चो को गोद लेना चाहते है फिर भी वह गोद नही ले पा रहे जिसका प्रमुख कारण जागरूकता का अभाव है।

देश के बाल गृहों में हैं 86 हजार अनाथ बच्चे : प्रशांत हरतालकर

राज्य बाल संरक्षण आयोग की सदस्य सुचिता चतुर्वेदी ने प्रतिपालक की कानूनी प्रक्रिया के सन्दर्भ में विस्तार से जानकारी प्रदान किया। बाल कल्याण समिति लखनऊ की पूर्व सदस्य संगीता शर्माने दत्तक ग्रहण के सन्दर्भ मे समाज की भूमिका एवं कानूनी प्रक्रिया क्या है इसके सम्बन्ध में विस्तार से जानकारी प्रदान किया।

भारत-श्रीलंका के बीच मैत्री संबंध हुए और मजबूत, मिलकर किया नौसेना का अभ्यास

राज्य बाल संरक्षण आयोग की सदस्य निर्मला पटेल ने दत्तक ग्रहण के मार्गदर्शी सिद्धान्त के सम्बन्ध में विस्तार से जानकारी प्रदान किया। एससीपीसीआर के सदस्य ई अशोक यादव ने कहा कि प्रशासन हमेशा ऐसे परिवारो और बच्चों की सहायता करने के लिये तत्पर है। प्रशिक्षण के द्वितीय सत्र में बाल कल्याण समिति की अध्यक्ष स्नेहा उपाध्याय में दत्तक ग्रहण में समिति का क्या रोल है उसके सम्बन्ध में विस्तृत जानकारी प्रदान किया।

देश के बाल गृहों में हैं 86 हजार अनाथ बच्चे : प्रशांत हरतालकर

बाल संरक्षण अधिकारी निरूपम सिंह ने स्वनाथ परिषद के प्रयासो की सराहना करते हुए कहा कि इस दिशा में हर सहायता प्रदान की जायेगी। स्वनाथ परिषद् काशी के संयोजक शिशिर कुमार ने आगामी कार्य योजना के सम्बन्ध में विस्तृत विवरण प्रस्तुत करते हुये दत्तक ग्रहण लेने वाले पारवारो के लिये जिले मे जल्द ही काउंसलिंग सेन्टर खोलने के बारे जानकारी दी और कहा कि एक हेल्प लाइन नम्बर भी जारी किया जायेगा।

देश के बाल गृहों में हैं 86 हजार अनाथ बच्चे : प्रशांत हरतालकर

खुले सत्र के दौरान प्रतिभागियो के प्रश्नो का सही जवाब प्रतिनिधियो द्वारा दिया गया। अन्त में अखिलेश कुमार सदस्य बाल कल्याण समिति द्वारा सभी उपस्थितगणमान्य व्यक्तियो को धन्यवाद ज्ञापित किया। कार्यक्रम में प्रमुख रूप से डा रचना अग्रवाल, मनोज कुमार, रितिका, अम्बुजु, निरूपमा, शुभांगी, अपर्णा उपाध्याय, प्राची, नेहा शामिल रही।

रिपोर्ट-संजय गुप्ता

About Samar Saleel

Check Also

घटा सरयू का जलस्तर, खतरे के निशान से तीन सेमी नीचे पहुंचा पानी, नाव से स्कूल जाना शुरू हुए बच्चे

सरयू खतरे के निशान से तीन सेमी नीचे पहुंच गई है। जलस्तर तो घट रहा ...