Breaking News

माघ माह में आएंगे ये पर्व व त्यौहार, इन शुभ योगों में शुरू करे सकेंगे सुभ कार्य

समस्त मासों में पवित्र माघ मास आज से आरंभ हो रहा है। इस माह की शुरूआत शनिवार के दिन पुनर्वसु नक्षत्र तथा ऐंद्र योग सहित कई शुभ योगों में हो रही है। इस माह को भगवान कृष्ण की आराधना और स्नान आदि कार्यों के लिए अत्यन्त शुभ माना गया है। इस माह में देश भर के हिंदू धर्मावलंबी पवित्र सरोवरों और नदियों में स्नान करेंगे तथा दान-पुण्य करेंगे।

माघ माह में गंगा, यमुना सहित अन्य पवित्र सरोवरों व नदियों में स्नान करने से एक हजार अश्वमेघ यज्ञों के बराबर फल मिलता है। इस माह कई पर्व व शुभ योग भी आ रहे हैं जिनमें माघ संकष्टी चतुर्थी, मकर संक्रान्ति व मौनी अमावस्या आदि प्रमुख हैं। हिंदू पंचांग के अनुसार इस माह 10 जनवरी को माघ संकष्टी चतुर्थी, 15 जनवरी को मकर संक्रान्ति, 18 जनवरी को षटतिला एकादशी व्रत, 21 जनवरी को मौनी अमावस्या, 25 जनवरी को बसंत पंचमी, 28 जनवरी को सूर्य सप्तमी पर्व आएंगे।

इस माह 22 जनवरी 2023 को ही गुप्त नवरात्रि भी आरंभ होगी। माघ माह में एक फरवरी को जया एकादशी, पांच फरवरी को माघ माह की पूर्णिमा रहेगी। इस माह की 14 जनवरी को ही सूर्य भी दक्षिणायन से उत्तरायण हो जाएगा। विद्वानों के अनुसार इस माह में तिल खाने, दान करने की पूजा है। इस माह में कई अन्य त्यौहार भी आ रहे हैं। इस माह में शिवार्चन और विष्णु सहस्त्रनाम का पाठ किया जाएगा। इसके साथ ही पूजा-पाठ व अन्य कई कर्मकांड भी किए जाएंगे।

पंचांग के अनुासर 8 जनवरी और 5 फरवरी को रवि पुष्य योग रहेगा। इसी प्रकार 8, 10, 18, 26, 30 जनवरी तथा एक एवं पांच फरवरी को सर्वार्थ सिद्धि योग बन रहा है। 18, 27 जनवरी को अमृतसिद्धी योग रहेगा। इसी प्रकार 14, 24, 25, 27 तथा 30 जनवरी, 3 व 4 फरवरी को रवि योग रहेगा।

पंचांग (Aaj Ka Panchang) के अनुसार आज प्रतिपदा तिथि पर आडल योग, विडाल योग सहित कई अन्य शुभ योग बन रहे हैं। अभिजीत मुहूर्त दोपहर 12.12 बजे से 12.54 बजे तक रहेगा। अमृत काल का समय अर्द्धरात्रि 12.27 बजे से अगले दिन सुबह 2.14 बजे तक रहेगा। विजय मुहूर्त का समय दोपहर 2.18 बजे से 3.01 बजे तक है।

About News Room lko

Check Also

सिखों के सातवें गुरु साहिब गुरु हरिराय महाराज के प्रकाश पर्व पर आयोजित किया गया गुरमत समागम

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें लखनऊ। श्री गुरू सिंह सभा, ऐतिहासिक गुरूद्वारा श्री ...