Breaking News

यूनाइटेड नेशंस ने तुर्की के नाम बदलने की अपील को दिखाई हरी झंडी, गुलामी के निशान को एर्दोगन ने मिटाया

तुर्की ने अपना नाम बदलकर तुर्किए कर लिया है। यूनाइटेड नेशंस ने भी तुर्की के नाम बदलने के अपील को स्वीकार कर लिया है। 3 जून 2022 से तुर्की, तुर्किए हो गया है।तुर्की के राष्ट्रपति रेचेप तैय्यप अर्दोआन के पिछले साल चलाए गए रिब्रांडिंग कैंपने के तहत कई अंतरराष्ट्रीय संस्थाओं को देश का नाम बदलने के लिए कहा गया है।

तुर्की के राष्ट्रपति रचेप तैयप एर्दोगन ने फरवरी 2022 में तुर्की का नाम बदलकर तुर्किए करने का फैसला किया था। उन्होंने कहा था कि तुर्की का नाम उसकी सही तस्वीर दुनिया के सामने लाने के लिए बदला जा रहा है।

अर्दोआन ने पिछले साल दिसंबर में कहा था, ”तुर्किये लोगों की संस्कृति, सभ्यता और मूल्यों का सबसे बेहतर प्रतिनिधित्व और अभिव्यक्ति करेगा.” संयुक्त राष्ट्र ने कहा कि इस हफ़्ते अनुरोध मिलते ही इसे बदल दिया गया.

एक ओर जब अंकारा मुस्लिम दुनिया का नेता बनने की कोशिश कर रहा है तो उस पर गुलामी को ढोने का आरोप लगाया जाने लगा। इतना ही नहीं क्रैबिंज डिक्शनरी में तुर्की शब्द का मतलब एक ऐसी चीज से है जो बुरी तरह फेल हो गया हो।

About News Room lko

Check Also

गर्भपात को कानूनी तौर पर मंजूरी देने वाले पांच दशक पुराने फैसले को अमेरिकी सुप्रीम कोर्ट ने पलटा

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें अमेरिका में गर्भपात का 50 साल पुराना संवैधानिक ...