Breaking News

यूपीए ने गैर मान्यता प्राप्त पत्रकारो की समस्याओ से राज्य मंत्री को कराया रूबरू

लखनऊ-गैर मान्यता प्राप्त पत्रकारो की समस्याओ के लिए सदा तत्पर यूनाईटेड पत्रकार एसोसिएशन (यूपीए) ने प्रदेश की नई सरकार के सामने भी पत्रकारो की समस्याओ को उठाया। यूपीए के प्रदेश महामंत्री ज़की हुसैन भारती ने शनिवार को प्रदेश सरकार के राज्यमंत्री मोहसिन रज़ा से मुलाकात कर उन्हे सरकार में मंत्री बनाए जाने की बधाई दी साथ ही श्री भारती ने गैर मान्यता प्राप्त पत्रकारो से सम्बन्धित मुद्दा भी उनके सामने उठाते हुए उन्हे एक पत्र सौपा। उन्होंने प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात के लिए समय निश्चिंत कराने का आग्रह किया। माननीय मंत्री मोहसिन रज़ा ने यूपीए के महामंत्री को आश्वस्त किया कि वो पत्रकारो के हित की बात को मुख्यमंत्री तक ज़रूर पहुचाएंगे। श्री ज़की भारती ने कहा कि यूपीए ने अपने गठन के बाद से ही गैर मान्यता प्राप्त पत्रकारो की अनगिनत समस्याओ को सरकार तक पहुंचा कर उनकी समस्याओ के निदान की मांग की है। लेकिन पूर्व की सपा सरकार ने लोकतंत्र के चैथे स्तम्भ के प्रहरी पत्रकारो की खुशहाली के लिए कोई काम नही किया। श्री भारती ने कहा कि जिस तरह से सरकार मान्यता प्राप्त पत्रकारो को तमाम सुविधाए उपलब्ध कराती है उसी तरह से गैर मान्यता प्राप्त पत्रकारो को भी सुविधाएं उपलब्ध कराई जाए, क्योंकि दोनो पत्रकारो का काम एक ही है फिर सरकार पत्रकारो में भेदभाव क्यूं कर रही है। श्री भारती ने कहा कि देश और समाज की उन्नती के लिए सदा तत्पर रह कर पत्रकारिता के माध्यम से अपने दायित्वो का निर्वाहन करने वाले प्रदेश के 30 हज़ार से ज़्यादा गैर मान्यता प्राप्त पत्रकार असुविधाओ के बीच जीवन यापन करके भी अपना फर्ज अदा कर रहे है।सरकार को चाहिए कि वो गैर मान्यता प्राप्त पत्रकारो के लिए सरकारी अस्पतलो में निःशुल्क चिकित्सा सुविधा, उत्तर प्रदेश परिवहन निगम की बसो में निःशुल्क यात्रा, सरकारी स्कूलो में पत्रकारो के बच्चो को मुफत शिक्षा और पत्रकारो की सुरक्षा के लिए पुख्ता इन्तिज़ाम करे ताकि पत्रकार सुविधा युक्त सुरक्षित वातावरण में अपने फर्ज को अन्जाम दे सकें। श्री भारती ने आशा व्यक्त की है कि प्रदेश की मौजूदा बीजेपी सरकार पत्रकारो की जायज़ मांगो को ज़रूर पूरा करेंगी।

Loading...
Loading...

About Samar Saleel

Check Also

IPS अमिताभ ठाकुर ने ऑफिस टाइम में निजी काम से अदालतों में जाने की सूचना RTI में देने से किया मना

लखनऊ। स्टेशनरी खर्चे और सरकारी गाड़ियों की लॉग बुक्स की जानकारी आरटीआई में नहीं देने ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *