Breaking News

शिक्षा के मंदिर में उड़ी सस्कारों की धज्जियां, जिम्मेदार कौन?

• छात्राओ के साथ स्कूल की शिक्षिकाएं व शिक्षक भी भोजपुरी गानों पर थिरके

• स्कूल का यह वीडियो सोशल मीडिया पर हुआ वायरल

• बेशर्म अध्यापक अब सिखा रहे अश्लीलता

रायबरेली। जिन हाथों में देश का भविष्य संवारने की जिम्मेदारी हो वही बहक जाएं तो फिर आखिर क्या अंजाम होगा। सब व्यवस्थाएं ही चौपट हो जाएंगी फिर देश को बर्बाद होने से कोई नही बचा पायेगा। देश में अब भी शिक्षा के मंदिर यानी विद्यालय को लोग सम्मान की नजर से देखते हैं। इसीलिए अपने बच्चो को इन विद्यालयों के माली गुरुजनों के हवाले अपने बच्चो का भविष्य रूपी पुष्प करते हैं। जिससे वह अपने गुणों से उनके कुल की बगिया महका सके। कोई ऐसे हाथ में अपने इन नन्हे मुन्ने अबोध बच्चो का भविष्य देना चाहेगा जो उसे कुमार्ग पर चलना सीखा रहे हों।

लोकतंत्र के मंदिर की फीकी पड़ी चमक!

सरेनी क्षेत्र के एक स्कूल में एक कार्यक्रम में जिन अश्लील गानों के साथ अध्यापक व छात्राएं एक मंच पर झूमते नजर आए। इन गानों को कोई भी माता-पिता सुन लें तो शर्मिंदा हो जाए। उस शिक्षा के मंदिर में बच्चों के साथ अध्यापक व अध्यापिकाओं का डांस का वीडियो सोशल मीडिया पर बहुत तेजी से वायरल हो रहा है और जमकर सुर्खियां बटोर रहा है।स्कूल के शिक्षक व शिक्षिकाए स्कूल की बच्चियों के साथ भोजपुरी के फूहड़ गानों पर डांस करते नजर आ रहे हैं। यह वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है।

जिले के प्रबुद्ध वर्ग ने सवाल उठाए हैं कि अगर शिक्षा के मंदिर में इस तरह की अभद्रता पूर्वक गाने बजाए जाएंगे और अध्यापक डांस करेंगे तो कैसे बच्चों को क्या संस्कारी बनाया जाएगा। वायरल वीडियो में बच्चों के साथ अध्यापक व अध्यापिकाओं का डांस करते वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। वायरल वीडियो सरेनी विधानसभा क्षेत्र के भूपगंज स्थित सरस्वती विद्या मंदिर का बताया जा रहा है। बहरहाल कुछ भी हो यह कृत्य शिक्षा के मंदिर को शर्मिंदा करने वाला है।यही हाल रहा तो बच्चो के भविष्य का भगवान ही मालिक है। फिलहाल इस वीडियो की जांच कर यदि इसकी पुष्टि होने पर इन पर कार्रवाई होती है तो यह इन बेशर्म शिक्षा के सौदागरों को एक सबक होगा। अब यश प्रश्न यह है की शिक्षा के जिम्मेदार इस पर कोई कदम उठाते हैं या मौन रहकर इसे यूं ही बच्चो के भविष्य को चौपट होता देखते हैं।

रिपोर्ट-दुर्गेश मिश्रा

About Samar Saleel

Check Also

बच्चों में ‘अंतर’ रखने में कारगर है ‘अंतरा’, हर साल बढ़ रही अंतरा लगवाने वालों की संख्या

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें • गर्भनिरोधक के अस्थाई साधनों में बन रहा ...