Breaking News

उत्तरी दिल्ली में छेडख़ानी का विरोध करने पर महिला के पिता की लाठी से पीट-पीट कर हत्या

देश में महिलाओं और लड़कियों के साथ छेडख़ानी की वारदातें कम नहीं हो रही हैं. अब उत्तरी दिल्ली के बुराड़ी इलाके में एक महिला ने आरोप लगाया है कि छेडख़ानी का विरोध करने पर मनचलों ने उसके पिता कुलदीप कात्याल उम्र 50 वर्ष की लाठी और बैट से पीट-पीट कर हत्या कर दी. हमले में महिला और उसका पति भी घायल बताये जा रहे हैं.

कुलदीप की बेटी ने बताया कि वह शादीशुदा है और अपने पति और बच्चे के साथ बुराड़ी में पिता के घर के पास ही रहती है. महिला ने कहा कि पड़ोस में ही रहने वाला एक लड़का हर रोज बाइक से निकलता है और अगर मैं बाहर अपने गेट पर खड़ी होती हूँ तो वो गंदे इशारे और छींटाकशी करता है. मैंने उसको 1 बार समझाया भी था, लेकिन कल जब मैं जन्माष्टमी की झांकी देखने के लिए बाहर निकली तो वो लड़का फिर से बाइक पर शराब पीकर आया और बहुत ही गंदा कमेंट किया.

महिला ने अपने आरोप में कहा, जब मैंने उसे मना किया तो लड़का और बाइक पर पीछे बैठा एक शख्स मुझे गाली देने लगे. इसी बीच मेरे पति भी आ गए. थोड़ी देर में मेरे पिता और भाई भी आ गए. इसके बाद लड़के ने फोन कर अपने परिवार के 8-10 लोगों को बुला लिया. उन लोगों ने मुझे लाठी मारी, मेरे पति और भाई को पीटा और फिर मेरे पिता पर लाठी और बैट से हमला कर दिया.

Loading...

पिता के सिर पर बैट इतनी जोर से मारा कि वे खून से लथपथ होकर गिर पड़े. महिला के अनुसार पहले वो अपने पिता को लेकर बाबू जगजीवन राम अस्पताल गई लेकिन उनकी गंभीर हालत को देखते हुए डॉक्टरों ने उन्हें सफदरजंग अस्पताल रेफर कर दिया, जहां उनकी मौत हो गई.

इस मामले में उत्तरी दिल्ली की डीसीपी मोनिका भारद्वाज का कहना है कि वारदात के वक्त पीसीआर कॉल मिली थी कि कुत्ते बाहर छोडऩे को लेकर झगड़ा हुआ है. महिला पर आरोप है कि वो कुत्ते को बाहर छोड़ देती है इसलिए उसका पड़ोसियों से झगड़ा हुआ है. लेकिन अब मीडिया में महिला ने बयान दिया है कि उसके साथ छेडख़ानी हो रही थी तो उसके इन आरोपों की भी जांच होगी. पुलिस ने हत्या का केस दर्ज कर मुख्य आरोपी वकुल समेत 2 लोगों को हिरासत में ले लिया है.

Loading...

About Aditya Jaiswal

Check Also

महाराष्ट्र सरकार नें खुली बीड़ी और सिगरेट बेचने पर लगी रोक, बताई बड़ी वजह

महाराष्ट्र खुली सिगरेट-बीड़ी की बिक्री पर बैन लगाने वाला देश का पहला राज्य बन गया ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *