Breaking News

पहली बार दिखा यूपी विधानभवन पर ऐसी बेहतरीन लाइटिंग का लाजवाब नजारा

लखनऊ। ‘आजादी के अमृत महोत्सव’ के क्रम में ‘हर घर तिरंगा’ कार्यक्रम के साथ-साथ प्रभात फेरी आदि कार्यक्रमों का आयोजन 13 से 15 अगस्त तक किया जा रहा है। यह केवल सरकारी आयोजन न होकर, राष्ट्रोत्सव का कार्यक्रम है। देश की आजादी के लिए बलिदान देने वाले ज्ञात-अज्ञात शहीदों को स्मरण करने के लिए आमजन की सहभागिता के साथ यह उत्सव मनाया जा रहा है।

विधान भवन उप्र. की विधायिका का प्रमुख स्तम्भ, यह उ0प्र0 की 25 करोड़ जनता की भावनाओं का प्रतिनिधित्व करता है।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ विरासत के प्रति हम सबके भाव को परिलक्षित करता है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की प्रेरणा से यह विचार आज यहां विधानभवन पर डायनैमिक फसाड लाइटिंग के लोकार्पण अवसर पर आयोजित कार्यक्रम के दौरान व्यक्त किए। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने आगामी 25 वर्षों का अमृत काल पूरे देश के लिए तय किया है। जब देश आजादी का शताब्दी वर्ष मना रहा होगा, तब तत्कालीन भारत की परिकल्पना हम सभी के सामूहिक प्रयास से फलीभूत होगी। अतीत को विस्मृत करके कोई भविष्य नहीं बना सकता। अतीत के गौरवशाली क्षणों से प्रेरणा लेकर एवं गलतियों का परिमार्जन करके भविष्य की रूपरेखा तय की जाती है।

11 से 17 अगस्त तक 07 से 08 बजे तक 10-10 मिनट के अन्तराल पर ‘वन्देमातरम्’ के गायन के साथ बेहतरीन फसाड लाइटिंग का कार्यक्रम प्रदेश की जनता को देखने को मिलेगा।

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि विधानभवन उत्तर प्रदेश की विधायिका का प्रमुख स्तम्भ है। यह उत्तर प्रदेश की 25 करोड़ जनता की भावनाओं का प्रतिनिधित्व करता है। यहां विकास की कार्ययोजनाओं का मंथन किया जाता है। यहां तैयार की गई कार्ययोजनाएं उत्तर प्रदेश को देश की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने के पथ पर अग्रसर कर रही हैं। जहां वर्तमान में विधान सभा संचालित हो रही है, वह पहले विधान परिषद थी। वर्ष 1937 में विधिवत विधान सभा का संचालन किया गया। उत्तर प्रदेश के 01 लाख 10 हजार गांवों एवं 700 से अधिक नगर निकायों में निवास करने वाली 25 करोड़ जनता के भाग्य के लिए कुछ कर गुजरने का अवसर इसी विधान सभा में मिलता है। इस वर्ष विधानसभा को ‘ई-विधान’ के साथ जोड़ने का सौभाग्य प्राप्त हुआ।

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि हमारा सौभाग्य है कि रक्षाबन्धन के पावन पर्व पर अपनी ऐतिहासिक विरासत को चार चांद लगाने का सुअवसर प्राप्त हुआ है। 11 से 17 अगस्त तक सायं 07 बजे से सायं 08 बजे तक 10-10 मिनट के अन्तराल पर ‘वन्देमातरम्’ के गायन के साथ बेहतरीन फसाड लाइटिंग का कार्यक्रम प्रदेश की जनता को देखने को मिलेगा। इसी क्रम को आगे बढ़ाते हुए लोकभवन, सचिवालय के अन्य भवनों के साथ-साथ प्रदेश की ऐतिहासिक इमारतों पर फसाड लाइटिंग लगाने का कार्य किया जाएगा।

कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए विधानसभा अध्यक्ष सतीश महाना ने कहा कि पूरा देश आजादी के 75 वर्ष पूर्ण होने पर ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ मना रहा है। जिन वीर सपूतों ने देश की आजादी के लिए अपने आपको न्यौछावर कर दिया, उनके सपनों के अनुरूप देश एवं प्रदेश के प्रत्येक क्षेत्र में परिवर्तन देखने को मिल रहा है।

इस अवसर पर उप मुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक, जल शक्ति मंत्री स्वतंत्र देव सिंह, एमएसएमई मंत्री राकेश सचान, लखनऊ की महापौर संयुक्ता भाटिया, मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्र, अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी, अपर मुख्य सचिव मुख्यमंत्री एसपी गोयल, अपर मुख्य सचिव सूचना एवं एमएसएमई नवनीत सहगल, अपर मुख्य सचिव सचिवालय प्रशासन हेमन्त राव, सूचना निदेशक शिशिर सहित अन्य गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।

रिपोर्ट: शाश्वत तिवारी

About Samar Saleel

Check Also

मस्कट का प्राचीन कृष्ण मंदिर: भारत-ओमान के बीच गहरे संबंधों का एक सच्चा प्रमाण

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें भारत के विदेश राज्य मंत्री वी. मुरलीधरन ओमान ...