Breaking News

10 महीने की बच्ची को था पेट दर्द, डॉक्टर समझ रहे थे ट्यूमर, पर अंदर से निकले जुड़वां बच्चे!

किसी महिला के लिए बच्चे को जन्म देने वाकई खुशी की बात होती है. वो इसके लिए नौ महीने तक इंतज़ार करती है लेकिन कोई बच्ची इस बात को नहीं समझ सकती है. बच्ची भी अगर कुछ महीनों की हो, तो उसे ऐसी चीज़ों का तो बिल्कुल अंदाज़ा ही नहीं हो सकता है.

एक मामला ऐसा ही सामने आया है, जहां 10 महीने की बच्ची के पेट में दर्द था और डॉक्टरों ने उसकी वजह जब माता-पिता को बताई तो वे सन्न रह गए.

मिरर की रिपोर्ट के मुताबिक बच्ची को पेट में दर्द हो रहा था. काफी दिनों तक जब ये सिलसिला जारी रहा, तो उसके परिवार के लोग उसे अस्पताल लेकर गए. बच्ची का दर्द पेट के निचले हिस्से में था और डॉक्टरों ने सोचा कि ये ट्यूमर है, जो बच्ची के पेट में बाहर की ओर भी दिखने लगा है. हालांकि जब उन्होंने ऑपरेशन करना शुरू कर दिया, तो यहां कुछ और ही मामला निकला.

बच्ची के पेट में होता था दर्द

ये मामला पाकिस्तान के सादिकाबाद का है. यहां बच्ची के माता-पिता पेट दर्द की शिकायत लेकर आए थे. 10 महीने की बच्ची का अल्ट्रासाउंड भी कराया गया, जिसमें डॉक्टरों ने समझा कि बच्ची के पेट के निचले हिस्से में ट्यूमर है. उन्हें लगा था कि बच्चे के पेट में फ्लुइड भरा हुआ है. सर्जन मुश्ताक अहमद ने बताया कि जब ऑपरेशन होने लगा तो इसमें करीब 2 घंटे का वक्त लग गया. इसी दौरान उन्हें बच्ची के पेट के निचले हिस्से से ट्यूमर निकाला गया, तो एक अलग ही चीज़ दिखाई दी.

10 महीने की बच्ची थी प्रेग्नेंट!

इस अजीबोगरीब केस में डॉक्टरों को बच्ची के पेट में दो जुड़वां फीटस मिले, जो पूरी तरह से विकसित नहीं हुए थे. डॉक्टरों को फिर ये समझते देर नहीं लगी कि बच्ची वैनिशिंग ट्विन सिंड्रोम का शिकार थी, जो 5 लाख में से किसी एक बच्चे को होता है. ये तब होता है, जब मां के गर्भ में एक बच्चा विकसित हो जाता है, जबकि जुड़वां फीटस स्वस्थ बच्चे के शरीर में फंस जाते हैं और विकसित नहीं हो पाते. ये ऑपरेशन काफी मुश्किल था, लेकिन रिपोर्ट्स के मुताबिक बच्ची की हालत स्थिर है.

About News Desk (P)

Check Also

राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने वरिष्ठ मंडल सुरक्षा आयुक्त को किया सम्मानित

लखनऊ। लखनऊ स्थित किंग जॉर्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय द्वारा विश्व रक्तदान दिवस के अवसर पर आज ...