Breaking News

Corona Virus के शिकार लोगों में 41 प्रतिशत युवा, 21 से 40 वर्ष की उम्र के लोग सबसे ज्यादा इन्फेक्टेड

तबलीगी जमात के सम्मेलन के बाद देश में कोरोना पीड़ितों की संख्या तेजी से बढ़ रही है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक देश में कुल संक्रमित मामलों की संख्या 2902 हो गई है और 2650 संक्रमित लोगों का इलाज चल रह है. जबकि 183 लोग इस बीमारी से उबर चुके हैं. COVID-19 की वजह से मरने वालों की संख्या 68 तक पहुंच गई है. सर्वाधिक 41 प्रतिशत 21 से 40 साल कि उम्र के लोग संक्रमण का शिकार हुए हैं.

स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने शनिवार को कहा कि दिल्ली स्थित निजामुद्दीन इलाके में तबलीगी जमात के धार्मिक आयोजन में हिस्सा लेने वालों में अब तक 17 राज्यों के कुल 1023 लोगों में कोरोनावायरस संक्रमण की पुष्टि हो चुकी है. उन्होंने कहा कि देश में कुल मामलों में 30 प्रतिशत मामले तबलीगी जमात से हैं. पिछले 24 घंटों में 601 पॉजिटिव मामले सामने आए हैं और 12 लोगों की मौत हो चुकी है.

संयुक्त सचिव ने कहा कि 22 हजार तबलीगी जमात के लोगों और उनके संपर्क में आने वालों को क्वारंटाइन में रखा गया है. वहीं गृह मंत्रालय कि संयुक्त सचिव पुण्य सलिला श्रीवास्तव ने बताया कि लॉक डाउन पर लगातार केंद्र सरकार निगरानी बनाए हुए है और स्थितियां काबू में हैं. केंद्र सरकार द्वारा शुक्रवार को जारी किया गया 11,092 करोड़ रुपये का राज्य राहत कोष राज्य सरकारें विभिन्न स्तर पर कोरोनावायरस के खिलाफ मुहिम में प्रयोग करेंगी.

स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल के मुताबिक मौजूदा समय तक 9 प्रतिशत मामले 0-20 वर्ष कि आयु वर्ग के, 41 प्रतिशत 21 से 40 साल कि उम्र के, 33 प्रतिशत 40 से 60 वर्ष कि आयु वर्ग के और 17 प्रतिशत 60 साल से ज्यादा उम्र वाले हैं.

Loading...

मंत्रालय के मुताबिक सभी लोगों को मास्क पहनने कि जरूरत नहीं है, सिर्फ वही लोग पहने जिन्हें जुकाम, बुखार या अन्य लक्षण हैं. मंत्रालय कि ओर से घर में एक तरह का मास्क बनाने को लेकर परामर्श जारी किया गया था. इस होममेड कवर को सभी लोग प्रयोग में ला सकते हैं.

तबलीगी जमात से देश में कोरोनावायरस के मामले बढ़ने के सवाल पर उन्होंने कहा कि हमारी नजर हरेक मामले पर है. हमारी इस वायरस के खिलाफ रोजाना कि जंग है और हमें सबका सहयोग चाहिए. डीजी, पीआईबी केएस धतवालिया ने 5 अप्रैल को रात 9 बजे 9 मिनट के लिए बिजली बंद करने से संकट पैदा होने की आशंकाओं को खारिज करते हुए उर्जा मंत्रालय कि ओर से जारी किए गए बयान को स्पष्ट किया.

वहीं आईसीएमआर के वैज्ञानिक डॉ.गंगाखेडकर ने बताया कि 75 हजार लोगों का कोरोनावायरस संबंधी टेस्ट किया गया है और लगातार हम अपनी क्षमता बढ़ा रहे हैं. हालात काबू में हैं.

गौरतलब है कि तबलीगी जमात के 17 राज्यों में 1023 कोरोना संक्रमण के मामले सामने आए हैं. कोविड-19 के कुल मामलों में 30 प्रतिशत जमात से हैं. देश में कोरोनावायरस के मरीजों की संख्या में बढ़ोतरी हुई है. अब तक 2902 पॉजिटिव केस सामने आ चुके हैं और 68 की मौत हुई है.

Loading...

About Aditya Jaiswal

Check Also

विभाग के बदले आयोग और करोड़ों के एमओयू आने के बावजूद नहीं आए अच्छे दिन: अखिलेश

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि भारतीय ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *